Exclusive Interview : वैलेंटाइन डे, रणबीर और रणवीर के बारे में आलिया भट्ट

रूना आशीष| Last Updated: बुधवार, 13 फ़रवरी 2019 (13:15 IST)
"मेरी ज़िंदगी में अभी एक शख्स है जिसके साथ मैं वेलेंटाइन डे मना सकती हूँ, लेकिन मैं वैलेंटाइन डे मना नहीं रही हूँ क्योंकि मैं उस दिन शूट कर रही हूँ। मैं अपना वैलेटाइन डे अयान और मिस्टर बच्चन के साथ मना रही हूँ।"
तो क्या आपका इंट्रेस्ट शिफ्ट हो गया है?
"रणबीर से अयान पर ...?"
ये कहते ही आलिया अपने ही जाल में फंस गईं। बड़ी ही सफाई से अपनी लव लाइफ पर बात न करने वाली आलिया आख़िरकार पत्रकारों के शब्दों में उलझ ही गईं। अपनी फिल्म 'गली बॉय' के प्रमोशनल के दौरान उन्होंने अपनी कई प्रोफ़ेशनल और पर्सनल बातें शेयर कीं।

आपकी फिल्म 14 फरवरी को रिलीज़ हो रही है। कभी बचपन में मनाया है ये दिन?
स्कूल और कॉलेज में मनाया है। हम देखते रहते थे किसे कितने फूल मिले। किसने किसे प्रपोज़ किया। कौन किसे किस तरह से देख रहा है। मेरे साथ ऐसा कभी नहीं हुआ। हां, एक बार मुझे एक परफ्यूम मिला था तो मैं बहुत खुश हो गई थी। मैंने उसे दस दिन में ही खत्म कर दिया था।


आपने और ने कुछ विज्ञापन साथ किए हैं। क्या आप 'गली बॉय' की शूटिंग के दौरान दोस्त बने?
मुझे रणवीर हमेशा से पसंद रहे हैं, लेकिन जिस तरह का हमारा प्रोफ़ेशन है उसके चलते हम काम के अलावा एक-दूसरे से मिले और वक्त गुज़ार सकें ऐसा कम ही हो पाता है। जब मैंने यह फिल्म शुरू की तो रणवीर के नए रूप से मिली। वह आमतौर पर जैसे नज़र आते हैं वैसे नहीं हैं। वह हमेशा कुर्सियों पर चढ़ कर नारंगी कपड़े पहने नज़र आते हैं। वो भी उन्हीं का रूप है क्योंकि उन्हें ऐसा कर के लोगों में प्यार या ख़ुशियाँ बाँटने का मौका मिलता है, लेकिन साथ ही में वह बहुत संवेदनशील, चुपचाप और परिपक्व भी हैं। यह रूप मैंने पहली बार देख। जैसे-जैसे मैं उनके साथ काम करती गई उन्हें जानती गई। अब भी हम कहते हैं कि चलो और काम करते हैं और इस बार तो एपिक रोमांटिक फिल्म करते हैं।



आप रणवीर-दीपिका की शादी में नहीं पहुंची थी। क्या वे नाराज़ नहीं हुए?
मैंने जान बूझकर नहीं किया था। बस, ये मुमकिन नहीं हो पाया। मैं सुबह सात बजे से शूट कर रही थी और एक टेक्निकल परेशानी की वजह से शूट को कुछ घंटे रोकना पड़ा। हम सभी बहुत एक्साइटेड थे और मेरे तो कपड़े भी तैयार थे। फिर जब जाना मुमकिन नहीं लगा तो मैंने रणवीर और दीपिका को सॉरी का मैसेज किया। रणवीर मेरी परेशानी समझ गए, लेकिन उन्होंने कहा कि मैं यकीन नहीं कर पा रहा हूँ कि तुम नहीं आई हो। मैं उनकी शादी की पहली सालगिरह पर जा कर हिसाब बराबर कर लूँगी।

भट्ट साहब ने आपके रोल को ले कर ट्वीट भी किया था।
उन्होंने ट्रेलर देख कर मुझे पापी गुड़िया कहा और कहा आलिया तुम गुंडी हो। सेट पर भी मुझे ज़ोया और रणवीर गुंडी कह कर ही बुलाते थे। इसकी जो टपोरी भाषा है वो मैंने पहले कभी नहीं बोली, लेकिन बाद में हम सभी लोग इसी भाषा में बात करने लगे। मसलन, चल ना वटक यहां से या अपुन चलते हैं अपना टाइम आ गएला है। ये भाषा बोलने के बाद मैं कह सकती हूँ कि मैं असली मुंबईकर हूँ। हालाँकि ये मेरी मस्ती-मज़ाक की भाषा है।

हाल ही में ने भी आपके बारे में कहा कि उन्होंने आपसे बहुत कुछ सीखा है। आपने क्या सीखा उनसे?
सच में ऐसा कहा? मुझे लगता है रणबीर नेचरल एक्टर हैं। वह बहुत ही आसानी से काम कर जाते हैं। वहीं मैं तो डायलॉग याद करके अपनी बारी इंतज़ार करती हूँ और वो शॉट भी दे जाते हैं। उनके जैसा शांत और मंझा एक्टर मैंने अपनी ज़िंदगी में अब तक नहीं देखा। उन्हें तो आप बस देखते रहो और तारीफ करते रहो, इतने कमाल के एक्टर हैं और इससे बड़ी बात कि उन्हें इस बात का घमंड नहीं है।


और भी पढ़ें :