कभी खाई है ऐसी आइसक्रीम जो पिघलती नहीं है

पुनः संशोधित मंगलवार, 28 अगस्त 2018 (17:23 IST)
- गिज़ेम बेइक्सेल (बीबीसी ट्रैवल)

यूरोप और एशिया के बॉर्डर पर बसा देश तुर्की इन दिनों सुर्ख़ियों में है। यहां की करेंसी लुढ़कती जा रही है। राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन का तानाशाही शिकंजा देश पर कसता जा रहा है।

मगर आज बात तुर्की के सियासी माहौल की नहीं, की जो सिर्फ़ तुर्की में मिलती है। और, आइसक्रीम खाने से पहले आप को लुका-छिपी का खेल भी खेलना पड़ेगा। वरना ये स्पेशल आइसक्रीम आप नहीं खा सकते। तुर्की की ये आइसक्रीम बहुत स्पेशल है क्योंकि ये दूसरी आइसक्रीम की तरह जल्दी से पिघलती नहीं, चिपकी रहती है।

इस आइसक्रीम में चिपकने की ख़ूबी आती है इसमें मिलाए जाने वाले ऑर्किड से। वहीं इसकी मिठास का राज़ है इसे तैयार करने में इस्तेमाल होने वाला बकरी का दूध। इस आइसक्रीम को बनाने और इसे खिलाने की शुरुआत हुई थी तुर्की के शहर कहरमानमरास से। लेकिन अब ये इस्तांबुल में भी बहुत लोकप्रिय हो गई है।


स्वाद के साथ चुहलबाज़ी का लुत्फ़
स्थानीय लोग तो इस चिपचिप आइसक्रीम को लुत्फ़ लेकर खाते ही हैं, सैलानी भी इसका मज़ा ज़रूर लेते हैं। आख़िर इस आइसक्रीम को खाने में स्वाद के साथ-साथ चुहलबाज़ी का लुत्फ़ भी जो मिलता है।
आइसक्रीम बेचने वाले सैलानियों को बार-बार लुभाने के लिए उनकी तरफ़ आइसक्रीम बढ़ाते हैं, लेकिन जैसे ही लोग उसकी तरफ़ हाथ बढ़ाते हैं, या पकड़ने के लिए लपकते हैं तो दुकानदार उन्हें गच्चा दे देते हैं। कभी आइसक्रीम को दूर कर लेते हैं, तो कभी ख़ाली कोन या कप पकड़ा देते हैं। कई बार तो ज़ुबान के क़रीब ले जाकर भी आइसक्रीम नहीं खिलाई जाती।

दूर-दूर से आए लोग इन दुकानदारों से आइसक्रीम लेने के साथ चुहल का मज़ा लेते हैं। आइसक्रीम ताज़ा भी होती है और मस्ती भरी भी। ख़रीदारों को गच्चा देने का ये हुनर यूं ही नहीं आ जाता। इसके लिए बेचने वालों को कई बरस तक प्रैक्टिस करनी पड़ती है।


आइसक्रीम की 32 किस्में
इस फ़न को सीखने के लिए क़रीब चार साल तक ट्रेनिंग चलती है। चार साल की कोशिशों के बाद, पांचवें साल छकाकर आइसक्रीम बेचने का हुनर आ जाता है। आइसक्रीम का चिपचिपापन इसे बार-बार चलाने से आता है और तभी आता है ख़रीदार को छकाने का मज़ा।

लेकिन, इसके लिए बेचने वालों को काफ़ी मशक़्क़त करनी पड़ती है। इसमें बहुत ताक़त लगानी पड़ती है। इससे आइसक्रीम बेचने वालों के हाथों में छाले तक पड़ जाते हैं। हाथ की चमड़ी सख़्त हो जाती है। इस्तांबुल में इस तरह से आइसक्रीम की 32 किस्में बेची जाती हैं। आज तुर्की की इस चिपचिपी आइसक्रीम की शोहरत इतनी बढ़ गई है कि इसे दूसरे देशों में भी निर्यात किया जा रहा है।


आख़िर आइसक्रीम होती ही है इतनी मज़ेदार।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :