बस रोज जपें ये 5 मंत्र, मिलेगा सुख और सौभाग्य...

tantra
पुरातन धार्मिक एवं वैदिक शास्त्रों में हर दिन की शुरुआत शुभ मंत्रों के स्मरण से होती है। यदि कोई भी व्यक्ति इस नियम का विधिवत पालन करे तो उसे जीवन में हर तरह के सुख और सौभाग्य मिलने की संभावना 100 प्रतिशत बढ़ जाती है। आइए जानें दिन की शुरुआत में पढ़ें जाने वाले सरलतम मंत्र, जो आपको देंगे सुख, वैभव, धन और हर तरह की समृद्धि...
* भूमि पर चरण रखते समय जरूर स्मरण करें :

पृथ्वी क्षमा प्रार्थना-
समुद्र वसने देवी पर्वत स्तन मंडिते।
विष्णु पत्नी नमस्तुभ्यं पाद स्पर्शं क्षमश्वमेव।

* जानिए प्रात:काल का मंत्र :

प्रात: कर-दर्शनम्-
कराग्रे वसते लक्ष्मी करमध्ये सरस्वती।
करमूले तू गोविन्द: प्रभाते करदर्शनम्।।
* त्रिदेवों के साथ नवग्रह स्मरण-

ब्रह्मा मुरारिस्त्रिपुरान्तकारी भानु: शशी भूमिसुतो बुधश्च।
गुरुश्च शुक्र: शनिराहुकेतव: कुर्वन्तु सर्वे मम सुप्रभातम्।।

* नित्यकर्म से निवृत्त हो स्नान करते समय जपें यह मंत्र-

स्नान मंत्र-
गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती।
नर्मदे सिन्धु कावेरी जले अस्मिन् सन्निधिम् कुरु।।
* पूजन के समय सूर्य आराधना के लिए-

सूर्य नमस्कार-
ॐ सूर्य आत्मा जगतस्तस्युषश्च
आदित्यस्य नमस्कारं ये कुर्वन्ति दिने दिने।
दीर्घमायुर्बलं वीर्यं व्याधि शोक विनाशनम्
सूर्य पादोदकं तीर्थ जठरे धारयाम्यहम्।।

ॐ मित्राय नम: ॐ रवये नम: ॐ सूर्याय नम: ॐ भानवे नम: ॐ खगाय नम: ॐ पूष्णे नम: ॐ हिरण्यगर्भाय नम: ॐ मरीचये नम: ॐ आदित्याय नम: ॐ सवित्रे नम: ॐ अर्काय नम: ॐ भास्कराय नम: ॐ श्री सवितृ सूर्यनारायणाय नम: आदिदेव नमस्तुभ्यं प्रसीदमम् भास्कर। दिवाकर नमस्तुभ्यं प्रभाकर नमोऽस्तु ते।।
- श्रीरामानुज

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :