0

दीपावली विशेष : पढ़ें मां लक्ष्मी चालीसा, मिलेगा धन, सुख-सौभाग्‍य

बुधवार,अक्टूबर 18, 2017
0
1
महालक्ष्मीजी की महाआरती- ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निस दिन सेवत हर-विष्णु-धाता ॥ उमा, रमा, ...
1
2

जैन पाठ : श्री महावीर चालीसा...

मंगलवार,अक्टूबर 17, 2017
दोहा- सिद्ध समूह नमों सदा, अरु सुमरूं अरहन्त। निर आकुल निर्वांच्छ हो, गए लोक के अंत ॥ मंगलमय मंगल करन, वर्धमान महावीर। ...
2
3
जय महावीर प्रभो, स्वामी जय महावीर प्रभो। कुंडलपुर अवतारी, त्रिशलानंद विभो॥ ॥ ॐ जय.....॥ सिद्धारथ घर जन्मे, वैभव था ...
3
4
जय धन्वंतरि देवा, जय धन्वंतरि जी देवा। जरा-रोग से पीड़ित, जन-जन सुख देवा.... भगवान धन्वंतरि जी की आरती
4
4
5
दीपावली के दो दिन पूर्व धनतेरस को भगवान धन्वंतरि का जन्म धनतेरस के रूप में मनाया जाता है। ऐश्वर्य और वैभव का वरदान ...
5
6
धन तेरस पर धन प्राप्ति के अनेक उपाय बताए जाते हैं लेकिन सभी उपायों से बढ़कर है धन और आरोग्य के देवता धन्वंतरि का पावन ...
6
7
पाठकों के लिए प्रस्तुत है एकादशी की आरती। इस आरती में सभी एकादशियों के नाम शामिल है। ॐ जय एकादशी, जय एकादशी, जय एकादशी ...
7
8

एकादशी (ग्यारस) के भजन...

शुक्रवार,अक्टूबर 13, 2017
ग्यारस माता से मिलन कैसे होय कि पांचों खिड़की बंद पड़ी। पहली खिड़की खोलकर देखूं, कूड़ा-कचरा होय। मुझमें इतनी अकल नहीं ...
8
8
9
अहोई माता की आरती - जय अहोई माता, जय अहोई माता! तुमको निसदिन ध्यावत हर विष्णु विधाता। टेक।। ब्राह्मणी, रुद्राणी, कमला ...
9
10
श्री राधा जी के 32 नामों का स्मरण करने से जीवन में सुख, प्रेम और शांति का वरदान मिलता है। धन और संपंत्ति तो आती जाती है ...
10
11

कृष्णप्रिया राधाजी की आरती...

सोमवार,अक्टूबर 9, 2017
आरती राधाजी की कीजै। कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा। आरति वृषभानु लली की कीजै। आरती... कृष्णचन्द्र ...
11
12
लंकापति रावण द्वारा रचित शिव तांडव स्तोत्र एक अद्वितीय काव्य रचना है। इसमें भगवान शिव की आराधना की गई है तथा यह बहुत ...
12
13
पहले साईं के चरणों में, अपना शीश नमाऊं मैं। कैसे शिरडी साईं आए, सारा हाल सुनाऊं मैं॥ कौन है माता, पिता कौन है, ये न ...
13
14
'ॐ श्री साईंनाथाय नम:'। ॐ श्री साईंनाथ को नमस्कार। 'ॐ श्री साईं लक्ष्मी नारायणाय नम:'। -ॐ जो लक्ष्मीनारायण के स्वरूप ...
14
15

श्री ललिता माता चालीसा

शनिवार,सितम्बर 23, 2017
श्री ललिता माता चालीसा- जयति-जयति जय ललिते माता। तव गुण महिमा है विख्याता।। तू सुन्दरी, त्रिपुरेश्वरी देवी। सुर नर मुनि ...
15
16
श्री मातेश्वरी जय त्रिपुरेश्वरी! राजेश्वरी जय नमो नम:!! करुणामयी सकल अघ हारिणी! अमृत वर्षिणी नमो नम:!!
16
17
दुर्गा सप्तशती का पाठ न कर पाने वाले भक्त अगर कीलक स्तोत्रम, देवी कवच या अर्गलास्तोत्र का पाठ करके भी देवी भगवती को ...
17
18
यहां सभी पाठकों के लिए प्रस्तुत है पवित्र श्री दुर्गा चालीसा। नवरात्रि के दिनों के अलावा भी दुर्गा चालीसा का नित्य पाठ ...
18
19
जय अम्बे गौरी मैया जय मंगल मूर्ति। तुमको निशिदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिव री ॥टेक॥ मांग सिंदूर बिराजत टीको मृगमद को। ...
19