0

पितृ-सूक्तम् : शुभ फल देनेवाला चमत्कारी पाठ...

शनिवार,दिसंबर 16, 2017
0
1
वैसे तो हर मनुष्य को हमेशा ही भगवान दत्तात्रेय का स्मरण करना चाहिए। दत्तात्रेय के मंत्रों के साथ-साथ उनके स्तोत्र का ...
1
2
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय। नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:।। मंदाकिनी सलिल ...
2
3
ॐ जै-जै भैरवबाबा स्वामी जै भैरवबाबा। नमो विश्व भूतेश भुजंगी मंजुल कहलावा उमानंद अमरेश विमोचन जनपद सिरनावा। काशी के ...
3
4
पाठकों के लिए यहां प्रस्तुत है आश्चर्यजनक रूप से हर संकट से बचाने वाला भैरव चालीसा- श्री गणपति गुरु गौरी पद प्रेम सहित ...
4
4
5
'ॐ श्री साईंनाथाय नम:'। ॐ श्री साईंनाथ को नमस्कार। 'ॐ श्री साईं लक्ष्मी नारायणाय नम:'। -ॐ जो लक्ष्मीनारायण के स्वरूप ...
5
6
जय भैरव देवा, प्रभु जय भैंरव देवा। जय काली और गौरा देवी कृत सेवा।। तुम्हीं पाप उद्धारक दुख सिंधु तारक। भक्तों के सुख ...
6
7
देव प्रबोधिनी एकादशी पर आपके पास मंत्र, चालीसा और आरती का समय नहीं है तो इस सरल और मधुर स्तुति से करें पूजन....पाएं ...
7
8
श्री तुलसी चालीसा के नियमित पाठ से आरोग्य और सौभाग्य का वरदान तो मिलता ही है साथ ही जीवन में पवित्रता आती है और सुख ...
8
8
9
तुलसी माता की आरती : जय जय तुलसी माता सब जग की सुख दाता, वर दाता जय जय तुलसी माता।। सब योगों के ऊपर, सब रोगों के ऊपर ...
9
10
मां पद्मावती का यह स्तोत्र संकटमोचन तथा प्रत्यक्ष प्रभावी है। इस स्तोत्र का नित्य 40 दिन तक पाठ करने से जीवन के सभी ...
10
11
प्रस्तुत है पवित्र सूर्याष्टक का पाठ। इसका प्रति रविवार वाचन किया जाए तो फल मिलने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। ...
11
12

चित्रगुप्त महाराज की आरती

शुक्रवार,अक्टूबर 20, 2017
श्री विरंचि कुलभूषण, यमपुर के धामी। पुण्य पाप के लेखक, चित्रगुप्त स्वामी॥ सीस मुकुट, कानों में कुण्डल अति सोहे। ...
12
13
दीपावली पर पढ़ें लक्ष्मी चालीसा - मातु लक्ष्मी करि कृपा करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्ध कर पुरवहु मेरी आस॥ सिंधु सुता ...
13
14
महालक्ष्मीजी की महाआरती- ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निस दिन सेवत हर-विष्णु-धाता ॥ उमा, रमा, ...
14
15

जैन पाठ : श्री महावीर चालीसा...

मंगलवार,अक्टूबर 17, 2017
दोहा- सिद्ध समूह नमों सदा, अरु सुमरूं अरहन्त। निर आकुल निर्वांच्छ हो, गए लोक के अंत ॥ मंगलमय मंगल करन, वर्धमान महावीर। ...
15
16
जय महावीर प्रभो, स्वामी जय महावीर प्रभो। कुंडलपुर अवतारी, त्रिशलानंद विभो॥ ॥ ॐ जय.....॥ सिद्धारथ घर जन्मे, वैभव था ...
16
17
जय धन्वंतरि देवा, जय धन्वंतरि जी देवा। जरा-रोग से पीड़ित, जन-जन सुख देवा.... भगवान धन्वंतरि जी की आरती
17
18
दीपावली के दो दिन पूर्व धनतेरस को भगवान धन्वंतरि का जन्म धनतेरस के रूप में मनाया जाता है। ऐश्वर्य और वैभव का वरदान ...
18
19
धन तेरस पर धन प्राप्ति के अनेक उपाय बताए जाते हैं लेकिन सभी उपायों से बढ़कर है धन और आरोग्य के देवता धन्वंतरि का पावन ...
19