सिर्फ एक आसन से कब्ज गायब, तोंद कम

अनिरुद्ध जोशी|
एक वैश्विक समस्या है। यदि आप भी इस समस्या से परेशान है तो आपके लिए लाएं है हम एक चमत्कारिक आसन शर्तिया तौर पर इसे प्रतिदिन करते रहने से मात्र एक माह में आपकी तोंद कम हो जाएगी। लेकिन इसके पहले तीन शर्तों का पालन करना भी जरूरी है।
*पहली शर्त यह कि आपको किसी भी प्रकार की कोई गंभीर बीमारी न हो।
*दूसरी यह कि आप प्रतिदिन सुबह और शाम गर्म जल ही ग्रहण करें।
*तीसरी शर्त कि गरिष्ठ भोजन न करें और भोजन की मात्रा कम कर दें।

*तो अब जानिए कि कौन सा है वह आसन। उस आसन का नाम है जिसे इसे एक अन्य प्रकार से भी कर सकते हैं जिसे वर्तमान में कहते हैं। कुंभकासन और चतुरंग के मिले-जुले रूप को प्लंक (plank) कहा जाता है। प्लंक को हिन्दी में काष्ठफलक कहते हैं जबकि कुछ इसे फलकासन कहते हैं।
*चित्र में दिखाई गई इस अवस्था में कम से कम 1 मिनट तक रुकना चाहिए, लेकिन शुरुआत आपको 10 सेकंड रुकने से करनी होगी। फिर अभ्यास करते कुछ दिनों बाद 1 मिनट से 2 मिनट तक इसी अवस्था में रुके रहें। यह आसन देखने में आसान है, लेकिन करने में कठिन।
*आप प्लंक नहीं कर पाए तो कुंभकासन योग करें।
*सबसे पहले शवासन में सोते हुए मकरासन में लेट जाएं।
*अब अपनी कोहनी और हाथ के पंजे को भूमि कर रखें।
*फिर छाती, पेट, कम और पुष्ठिका को उपर उठाते हुए पैर के पंजे सीधे कर दें।
*इस स्थिति में आपके शरीर का बल या वजन पूर्णत: हाथ के पंजे, कोहनी और पैर के पंजों पर आ जाएगा।
*अब गर्दन सहित रीढ़ की हड्डी को सीधा करें। इस स्थिति में रीढ़ सीधी रेखा में होना चाहिए।
*उक्त आसन करने के बाद कुछ देर तक शवासन करके खुद को नॉर्मल कर लें।
*यह बहु‍त तेजी से आपके और की चर्बी को हटाकर तोंद को समाप्त करता है।
*पाचन क्रिया इससे मजबूत होती है और जैसी बीमारियों दूर हो जाती है।
*इस आसन से बाहें, कंधें, पीठ, पुष्टिकाएं, जंघाएं मजबूत होती है।
*यह आसन पेट और गुदा संबंधी कई रोग में लाभदायक है।
*छाती, फेंफड़े और लिवर को यह आसन मजबूत करता है।
*मूत्र विकार और किडनी संबंधी रोग में भी यह आसन लाभदायक है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

इसलिए जरूरी है बच्चों का मुंडन संस्कार, पढ़ें 5 जरूरी बातें

इसलिए जरूरी है बच्चों का मुंडन संस्कार, पढ़ें 5 जरूरी बातें
मुंडन संस्कार के बारे में मान्यता है कि इससे शिशु का मस्तिष्क और बुद्धि दोनों ही पुष्ट ...

दूध नहीं पीते हैं मोटे होने के डर से तो यह 4 स्वादिष्ट ...

दूध नहीं पीते हैं मोटे होने के डर से तो यह 4 स्वादिष्ट विकल्प हैं आपके लिए
अगर आप वजन को बढ़ने से रोकना चाहते हैं और हेल्थ से किसी तरह के समझौते को तैयार नहीं तो ...

हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मानते हैं मोर ...

हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मानते हैं मोर पंखों को शुभ, पढ़ें 10 चौंकाने वाली बातें
मोर, मयूर, पिकॉक कितने खूबसूरत नाम है इस सुंदर से पक्षी के। जितना खूबसूरत यह दिखता है ...

अजी अंडा छोड़िए, इन 5 शाकाहारी चीजों में है भरपूर प्रोटीन

अजी अंडा छोड़िए, इन 5 शाकाहारी चीजों में है भरपूर प्रोटीन
हाल ही में पोलैंड की पशु चिकित्सा सेवा ने करीब 40 लाख अंडों को बाजार से हटा लिया है। ये ...

तुरंत फेंक दे अपना पुराना लूफाह वर्ना संक्रमण का है खतरा

तुरंत फेंक दे अपना पुराना लूफाह वर्ना संक्रमण का है खतरा
नहाते हुए अपने शरीर की वह त्वचा व हिस्सा, जो केवल साबुन से साफ नहीं हो पाता, उसकी सफाई के ...

4 टिप्स से जानें आपकी त्‍वचा के लिए कितने एसपीएफ वाला ...

4 टिप्स से जानें आपकी त्‍वचा के लिए कितने एसपीएफ वाला सनस्क्रीन सही होगा?
आमतौर पर आपने दूसरों से सुना होगा कि जितना ज्यादा एसपीएफ वाला सनस्क्रीन लगाएंगे उतना ही ...

हाथों में मेहंदी का रंग गहरा करने के 10 टिप्स

हाथों में मेहंदी का रंग गहरा करने के 10 टिप्स
मेहंदी से रचे हाथ किसे अच्छे नहीं लगते! जिनके हाथों में मेहंदी लगती है वे उसके रंग को ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो यह 6 उपाय आजमाएं
परिश्रम से बड़ा कोई धन नहीं। लेकिन सांसारिक सुखों को हासिल करने के लिए जो धन चाहिए वह अगर ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, पढ़ें ये विशेष मंत्र...
वर्ष 2018 में 20 जून, बुधवार को धूमावती जयंती है। इस विशेष अवसर पर ब्रह्म मुहूर्त में ...

देवी धूमावती की उत्पत्ति कैसे हुई, यह विचित्र कथा पढ़कर हो ...

देवी धूमावती की उत्पत्ति कैसे हुई, यह विचित्र कथा पढ़कर हो जाएंगे हैरान
पुराणों के अनुसार एक बार मां पार्वती को बहुत तेज भूख लगी होती है किंतु कैलाश पर उस समय ...