नियमित योग से पाएं ये 6 बेहतरीन लाभ




21 जून की तारीख पूरे विश्व में 'अंतरराष्ट्रीय दिवस' के नाम से दर्ज हो गई है। योग हमेशा से भारत की प्राचीन परंपरा का अमूल्य हिस्सा रहा है। योग करने से शारीरिक व मानसिक अनेक फायदे होते हैं। यह हम पंचतत्वों से बने मनुष्य को प्रकृति से जोड़ता है। 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' पहली बार 2015 में मनाया गया।
योग को 'अंतरराष्ट्रीय' रूप से मनाने का प्रस्ताव भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र संघ के सामने रखा था जिसे संयुक्त राष्ट्र संघ ने सभी राष्ट्रों की सहमति से 90 दिनों के अंदर ही पारित कर दिया और इस तरह किसी दिन को दिवस के रूप में मनाने के प्रस्ताव को इतने कम दिनों में मंजूरी मिलने वाला यह पहला प्रस्ताव बन गया।
तो अब चाहे आप विश्वास करें या न करें लेकिन इस बात का अंदाजा लगाया ही जा सकता है कि योग से अनगिनत लोगों को फायदा पहुंचा होगा इसलिए आज इस दिन को एक महत्वपूर्ण दिवस के रूप में पूरी दुनियाभर के लोग मना रहे हैं।

आइए हम भी जानें कि योग से हम क्या-क्या लाभ पा सकते हैं?

1. नियमित योग करने से शरीर के सभी अंग सुचारु रूप से कार्य करते हैं।

2. योग के विभिन्न आसनों से शरीर के अलग-अलग हिस्सों को फायदा पहुंचता है। योग में शरीर के हर छोटे से छोटे अंग का व्यायाम होता है। और आपका शरीर लचीला बनता है या कह लें कि शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती है।


ALSO READ:पूरे मनोयोग से कीजिए योग

3. छोटे बच्चे से लेकर बुजुर्ग व्यक्ति तक कोई भी योग के कर सकता है। जब तक नियमित योग करेंगे, तब तक इसके लाभ मिलते रहेंगे। किसी कारणवश जब नहीं भी कर पाएं तब भी इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं होते हैं। आपको केवल इतना ध्यान रखना है कि आपको यदि शरीर के किसी हिस्से में पहले से कोई परेशानी है, तब ऐसा कोई आसन न करें, जो कि किसी भी प्रकार से परेशानी वाले हिस्से को प्रभावित करता हो।
4. योग के कई आसन ऐसे भी हैं, जो किसी परेशानीग्रस्त हिस्से को ठीक कर देते हैं, लेकिन ऐसे आसन आप योग विशेषज्ञ की सलाह व देखरेख में ही करें।








5. योग आपको तन के अलावा मन की भी शांति देता है। योग के कई आसन व ध्यान आपके विचारों को नियंत्रित कर संतुलित कर देते हैं जिससे मन शांत रहने लगता है।
ALSO READ:: योग से खत्म होती है मनुष्य के अन्दर की नकारात्मकता

6. सफल जीवन जीने के लिए शरीर को सकारात्मक ऊर्जा और मानसिक शक्ति की जरूरत होती है, जो हमें योग से ही मिलती है।


और भी पढ़ें :