Widgets Magazine

बारूद की धरती पर उगते सपनों के फूल

ND
अफगानी ड्रेस डिजाइनर्स मीना शेरजॉय और जुलेखा शेरजाद का शुमार भले ही नामी लोगों की सूची में न हो, लेकिन वे दोनों एक नया अध्याय रच रही हैं। वे युद्ध की विभीषिका से उबर रहे अफगानिस्तान में सृजन की एक नई कोशिश कर रही हैं। दरअसल अफगानिस्तान जैसी जगह पर जहाँ महिलाओं की हैसियत बहुत ज्यादा अच्छी न हो तथा युद्ध ने सारे प्राणियों की साँस में जहर घोल दिया हो, वहाँ जीवन में फिर से रंग भरने की कवायद बहुत जरूरी है। इन दो महिलाओं ने यहाँ नए कीर्तिमान रचे हैं, नई परिभाषाएँ गढ़ी हैं, नए आयाम दिए हैं। साथ ही दिया है महिलाओं को उनके हिस्से का आसमान।

ND|
शेरजॉय अफगानिस्तान वर्ल्ड वाइड शॉपिंग
  उस देश में जहाँ सपनों में भी आदमी सिर्फ और सिर्फ रोटी देखता है, वहाँ फैशन या फैशन शो जैसे महँगे शब्दों का होना भर कल्पना से परे है, लेकिन ये दो महिलाएँ इस कल्पना को साकार कर रही हैं। यही नहीं फैशन कई लोगों को इज्जत की रोटी के नाम भी कमा रही हैं।      
ऑनलाइन मॉल की अध्यक्ष हैं। वहीं शेरजाद दक्ष ड्रेस डिजाइनर होने के साथ एक एनजीओ भी चलाती हैं। अब तक युद्ध के शिकार बने हजारों लोग तथा विधवा महिलाएँ इस एनजीओ से टेलरिं
ग, कम्प्यूटर तथा बेसिक बिजनेस स्किल्स से जुड़े प्रशिक्षण ले चुके हैं। इनका मुख्य मकसद महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाना है। साथ ही ये अपनी अमूल्य परंपराओं तथा संस्कृति को भी इस कला के सहारे जीवित रखना चाहती हैं।

सम्बंधित जानकारी

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :