एक थी शहजादी...

शनिवार,दिसंबर 27, 2014

उठो, अँधेरे के खिलाफ!

शनिवार,मार्च 15, 2008
निर्मला पुतुल एक ऐसी कवयित्री हैं, जो संथाल परगना के आदिवासी परिवार में जन्मी हैं। उनकी कॉलेज की शिक्षा नहीं हो पाई ...
पंचायत राज अधिनियम में महिलाओं के लिए आरक्षण की व्यवस्था की गई, लेकिन महिला पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा अपना दायित्व ...

समाज को बदल डालो!

शनिवार,जनवरी 12, 2008
उपरोक्त बैनर बीसवीं सदी के न्यूयॉर्क में मताधिकार के संबंध में स्त्रियों की गैर बराबरी की स्थिति पर व्यंग्य है, ...

महिलाओं के हित में कानून

शनिवार,जनवरी 12, 2008
भारतीय साक्ष्य अधिनियम 1872 के कई प्रावधान भी उत्पीड़ित महिलाओं के हितार्थ हैं। दहेज हत्या, आत्महत्या या अन्य प्रकार के ...
Widgets Magazine

महिलाओं के लिए बने कानून

शनिवार,जनवरी 12, 2008
पिछले दशकों में स्त्रियों का उत्पीड़न रोकने और उन्हें उनके हक दिलाने के बारे में बड़ी संख्या में कानून पारित हुए हैं। अगर ...

महिलाओं के लिए बने कानून

शुक्रवार,जनवरी 11, 2008
पिछले दशकों में स्त्रियों का उत्पीड़न रोकने और उन्हें उनके हक दिलाने के बारे में बड़ी संख्या में कानून पारित हुए हैं। अगर ...
लिंगानुपात में इतना असंतुलन आता जा रहा है कि सरकार ने अब सड़कों पर यह बोर्ड लगाने शुरू कर दिए हैं- जब एक महिला के होंगे ...

अंतिम संस्कार एक हक नारी का

बुधवार,अक्टूबर 3, 2007
अंतिम संस्कार औरत नहीं कर सकती है। यह तथ्य मौजूदा सदी में अव्यावहारिक परंपरा मानी जा सकती है। भारतीय संस्कृति में किसी ...
Widgets Magazine

स्वास्थ्य है आपका अधिकार

मंगलवार,सितम्बर 18, 2007
कन्या भ्रूण हत्या भारतीय समाज का एक बड़ा कलंक है। कानूनन इस पर रोक लग चुकी है, इसके निषेध संबंधी सामाजिक जागृति लाए जाने ...
बलात्कार यानी बल के बूते पर किया हुआ कार्य। यह एक ऐसा अनुभव है, जो पीड़िता के जीवन की बुनियाद को हिलाकर रख देता है। ...