ये हैं असल जिंदगी के ‘सिंघम’, जलता सिलेंडर ले जाकर नदी में फेंका..

Last Updated: शुक्रवार, 14 सितम्बर 2018 (13:18 IST)
आपकी नजर में पुलिस की छवि कैसी है.. हमेशा वारदात होने के बाद मौके पर पहुंचने वाली.. भ्रष्ट.. रौब झाड़ने वाली.. बिना बात परेशान करने वाली.. तो आज हम लेकर आए हैं खबर एक बहादुर पुलिसवाले की, जिसने फर्ज निभाने के‍ लिए अपनी जान तक की परवाह नहीं की! जी हां, का यह बहादुर सिपाही प्रेमचंद अपनी जान जोखिम में डालकर जलते हुए गैस सिलेंडर को घसीटकर ले गया और सिलेंडर को नदी में फेंक दिया, जिससे एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया।
इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर अब वायरल हो रहा है।

क्या है पूरा मामला..


यह घटना है झांसी की। वहां के मऊरानीपुर क्षेत्र के छिवयांत मोहल्ले में राजू दुबे परिवार सहित रहते हैं। घर में चाय बनाते वक्त गैसे सिलेंडर में आग लग गई। गैस सिलेंडर में आग लगी देखकर परिवारवाले घबरा गए और चिल्लाने लगे। फिर कुछ लोगों ने इसकी खबर थाने तक पहुंचाई। घटना की सूचना मिलते ही अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए।

कोतवाल प्रेमचंद्र ने पहले कम्बल को गीला कर सिलेंडर पर डाला, लेकिन जब आग नहीं बुझी तो उन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर रस्सी से सिलेंडर को बांधा और खुद घसीटते हुए उसे गांव के बाहर नदी किनारे ले गए और सिलेंडर को नदी में फेंक दिया। इस तरह असल जिंदगी के ‘सिंघम’ ने अपनी सूझ-बूझ और बहादुरी से कई लोगों की जान बचाई।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :