द वॉयस ऑफ इंडिया किड्स... प्रतिभाओं को मिलेगा मंच

एंड टीवी पर 11 नवम्बर से 'द वॉयस इंडिया किड्स सीजन 2' शुरू होने जा रहा है। इसमें 7 से 14 वर्ष के बच्चे अपनी गायकी से दर्शकों का मनोरंजन करेंगे। इस सीजन में चार कोच दिखाई देंगे। ये कोच हैं- मशहूर गायक और संगीत निर्देशक हिमेश रेशमिया, हमेशा मुस्कान बिखेरने वाले और उम्दा गायक शान, सिंगर-कंपोजर पैपॉन और सबसे युवा कोच पलक मुच्छल।

वॉयस इंडिया किड्स सीजन 2 में दिव्यांग बच्चों को एक मंच प्रदान करने से लेकर देश के कोने-कोने से आए बच्चों के अनसुने संघर्ष को दर्शाया जाएगा। प्रतिभागियों को उनकी 'आवाज' की ताकत के आधार पर परखा जायेगा।

देशभर में नई प्रतिभाओं को आगे लाने में हिमेश की विशेषज्ञता, पैपॉन का संगीत की जड़ों से जुड़ाव, पलक की इतिहास रचने की शक्ति, और अलग-अलग जोनर में खुद को ढालने में के अंदाज के साथ, युवा प्रतिभागियों को अपने टैलेंट को निखारने के लिए और कौशल सीखने का मौका मिलेगा। अभिनेता जय भानुशाली शो के होस्ट होंगे। उनके को-होस्ट बनेंगे निहार गीते।

इस शो का हिस्सा बनने पर हिमेश रेशमिया ने कहा, ''द वॉयस इंडिया किड्स ऐसा मंच है जो कि संगीत के असली सार को समझता है और कई प्रतिभाशाली बच्चों को उनकी मधुर आवाज सुनाने का अवसर देता है। मुझे खुद बच्चों के साथ रहना अच्छा लगता है और वे मेरी प्रेरणा का सबसे बड़ा स्रोत है।'

शान बताते हैं, ''ऐसे शो में वापस लौटना हमेशा खुशी की बात होती है, जहां सफलता की सीढ़ी पर चढऩे के लिए आपको अपनी आवाज की ताकत दिखानी पड़ती है। द वॉयस इंडिया मेरे दिल के बहुत करीब है क्योंकि यह ऐसा संगीत एवं आवाज सामने लेकर आता है जो आपकी आत्मा को स्पर्श करती है। इस शो की एनर्जी और टैलेंट का कोई मुकाबला नहीं है और मैं इस साल टैलेंट के एक और शानदार प्रदर्शन को देखने के लिए बेताब हूं।''
अपने डेब्यू के बारे में पैपॉन ने कहा, ''द वॉयस इंडिया एक सबसे अनूठा सिंगिंग रियलिटी शो है जो कि लाखों लोगों को अपना हुनर दिखाने का एक उचित मंच प्रदान करता है। मैं इससे पहले कुछ सिंगिंग रियलिटी शोज का हिस्सा रह चुका हूं। मैंने इनमें परफॉर्म भी किया है लेकिन यह पहली बार है जब मैं जज बनूंगा और मैं द वॉयस इंडिया किड्स का हिस्सा बनकर वाकई में उत्साहित हूं। मुझे भरोसा है कि मैं एक कोच के रूप में संगीत के प्रति अपने ज्ञान को इन युवा सिंगर्स के साथ साझा करूंगा ताकि उन्हें उनके सपनों को पूरा करने में मदद मिले।''
इस शो में अपनी भूमिका के बारे में ने कहा, ''द वॉयस इंडिया जैसे स्टेज को देखकर पता चलता है कि किस तरह दमदार परफॉर्मेंसेस सबसे समझदार लोगों को आकर्षित कर सकती हैं। टीमों का ब्लाइंड सलेक्शन सुनिश्चित करता है कि इसमें किसी भी तरह का बाहरीपक्षपात नहीं है और बस दिल को छू जाने वाली आवाज ही प्रतियोगिता में आगे बढ़ेगी।

यह अपने टैलेंट को एक्स्प्लोर कर उसे साबित करने का अवसर है जिसका मैं हमेशा सम्मान करती हूं। हमारे देश में, जहां हर मोड़ पर प्रतिभाएं छिपी हुई हैं, द वॉयस इंडिया जैसे मंच एक व्यक्ति की जिंदगी में बड़ा अंतर ला सकते हैं। एक कोच के रूप में मैं पूरा न्याय करने की उम्मीद करती हूं और भरोसा है कि मैं युवा प्रतिभागियों को सफलता हासिल करने के लिए जरूरी कौशल दे पाऊंगी।''

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :