तो बाबू समझ लो इमोशनल वॉट लगने वाली है...


कोयल टुटेजा> सबका तो पता नहीं, लेकिन हमारे लिए इन्होंने जो बेंचमार्क सेट किया है वह ये है कि अपनी कमजोरी को ही अपनी ताकत बना लो। यह वो इंसान है जिसने युवाओं को अपनी ओर खींचा है और मेरे ख्याल से इस समय इनकी बात हर कोई कर रहा है। मैं बात कर रही हूं की। हुआ यूं कि उनका डेढ़ घंटे का शो अटेंड करने के बाद मैं यही सोचती रही कि इतने सारे लोगों को लगातार इतनी देर तक हंसाना, बांधकर रखना, कोई छोटी बात नहीं। यह हर किसी के बस की बात तो नहीं हो सकती।  
 
चलिए इनका बैकग्राउंड भी आपको बता देते हैं। ज़ाकिर खान कॉलेज ड्रॉप आउट हैं और इंदौर शहर से ताल्लुक रखते हैं। 2012 में उन्होंने "इंडियाज़ बेस्ट स्टैंड-अप कॉमेडि‍यन" का खिताब जीता। 2015 में उन्होंने बड़े बड़ों को यूट्यूब पर रोस्ट करने वाले तन्मय भट्ट के साथ "ऑन एयर विद एआईबी" को को-होस्ट भी किया था। ज़ाकिर खान ने "The 5th Annual Golden Kela Awards" भी को-होस्ट किया था वीर दास के साथ। तो यह तो हो गई गूगल की इनफार्मेशन।  
 
अपनी बरत करुं तो मेरी नज़र में ज़ाकिर खान एक प्रेरणा हैं। हाल ही में इनका वीडियो "हक से सिंगल" आया है, जिसे देखने के लिए लोगों ने खासतौर पर अपने मोबाइल और स्मार्ट टीवी पर अमेजन प्राइम वीडियो को सब्सक्राइब किया। दरअसल यह शो लाजवाब तरीके से हिट हुआ और इसके बाद एक अपनी अलग ही जगह बना ली ज़ाकिर खान ने। मैं यह तो नहीं कहती कि हर व्यक्ति को ये पसंद आएंगे, पर ये जनाब इंदौर के उन लोगों में से हैं जिन्होंने खुद के साथ साथ इंदौर का भी नाम ऊपर उठाया है। इनका बोलने का अपना ही अलग-सा अंदाज़ हैं। वो कहते है ना " It's not what you say, it's how you say it", इसे बखूबी निभाया है ज़ाकिर खान ने। 
 
"होंगे दूसरों के लिए, अपने तो दोस्त होते हैं", इस तरह की टैग लाइंस से वे लोगों को खुद से जोड़ते हैं। एक और चीज़ जो इनसे सीखी जा सकती है, वह ये है कि स्टैंड-उप कॉमेडी करने के लिए ज़रूरी नहीं कि आपकी अंग्रेजी बहुत अच्छी हो। अपनी इंदौरी मिक्स हिंदी से यह ऑडियंस को हंसाते-हंसाते कई बार काम की ऐसी बातें कह जाते हैं कि आप बस सोचते ही रह जाएंगे। ये उन विषयों को उठाते हैं जो हर इंसान के जीवन का हिस्सा हैं, और इस तरीके से प्रस्तुत करते हैं कि आप आपकी हंसी न रुके। आम जीवन की बातों को इस तरह से पेश करना किसी कला से कम नहीं।
 
वैसे इन्हें शायरी का भी बड़ा शौक है और इनकी शायरी काफी फेमस भी है। उनकी कही बातों में से मेरी पर्सनल फेवरेट, जो मुझे बहुत पसंद है वो है -  "हजारों बार के सुने हुए गाने अगर अचानक अच्छे लगने लगे तो बाबू समझ लो इमोशनल वॉट लगने वाली है...।" 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :