इस गुड़ी पड़वा पर बनाएं दो खास व्यंजन, जीवन में रहेगी मिठास...



गुडी पड़वा के पारंपरिक विशेष : पूरन पोळी-आमटी
गुड़ी पड़वा या हिन्दू नववर्ष प्राय: सभी घरों में मनाया जाता है। हमारा नया साल हो और मिठास का बात न हो, यह तो संभव नहीं है। तो आइए गुडी पड़वा के इस विशेष त्योहार पर
हम आपके लिए लेकर आए हैं दो विशेष बनाने की सरल विधियां :-
पूरन की सामग्री :
300 ग्राम चना दाल, शक्कर 250 ग्राम, मावा 100 ग्राम, मैदा 200 ग्राम, केसर 5 ग्राम, इलायची 5 ग्राम, घी 150 ग्राम।
आमटी के लिए :
उबली व बारीक पिसी चने की दाल आधा कटोरी, अमचूर पावडर 1 चम्मच या 2 नींबू का रस, राई-जीरा, चुटकी‍भर हींग, 4-5 मीठा नीम पत्ता, 4 हरी मिर्च, हरी धनिया, पाव चम्मच गरम मसाला, नमक स्वादानुसार।
विधि (पूरन) :
सर्वप्रथम चने की दाल को कुकर में अच्छी तरह पका लें। पकी हुई दाल को सिलबट्टे या मिक्सर में पीस लें। अब इसमें शक्कर डालकर मध्यम आंच पर इतना पकाएं कि वह गाढ़ा हो जाए।

अब इसे ठंडा होने दें। मावे को हल्का गुलाबी होने तक भूनें व ठंडा होने पर इसमें इलायची पावडर और केसर मिला दें। अब इसे ठंडे पूरन में मिला दें। पूरन और मावे को अच्छी तरह मिला लें।
मैदे को छानकर इसमें 2 चम्मच घी (मोयन के लिए) डाल दें और आटे के समान गूंथ लें। आटे की लोई बनाकर पूरी के आकार में बेलकर पूरी में पूरन का लड्डू बनाकर रखें और इसे दूसरी पूरी से ढंककर दोनों पूरी को उंगली से दबाते हुए चिपका लें। अब इसे पलोथन लगाकर हल्के हाथ से बेल लें। तवे पर घी लगाकर इसे डाल दें व धीमी आंच पर दोनों तरफ से घी लगाकर सेंक लें।

विधि (आमटी) :
एक कड़ाही में तेल गरम करके इसमें हींग, राई-जीरे का छौंक लगाएं। अब कटी हरी मिर्च, मीठा नीम डालकर लाल मिर्च, हल्दी डालकर ग्रेवी बना लें। अब बारीक पिसी चने की दाल और आवश्यकतानुसार पानी डालें और अच्छी तरह उबाल लें। अमचूर पावडर या नींबू का रस व गरम मसाला डालें और धनिया पत्ती डाल दें। अब गुड़ी को भोग लगाकर गरमा-गरम राजसी पूरण पोळी आमटी के साथ पेश करें।



Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :