सातवें दिन चढ़ा शेयर बाजार

पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 अप्रैल 2018 (17:32 IST)
मुंबई। सकारात्मक आर्थिक आंकड़ों से घरेलू शेयर बाजार लगातार सातवें दिन शुक्रवार को हरे निशान में रहते हुए डेढ़ महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 91.52 अंक की बढ़त में 34,192.65 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 21.95 अंक मजबूत होता हुआ 10,480.60 अंक पर रहा।

गुरुवार को खुदरा महंगाई और औद्योगिक उत्पादन के सरकारी आंकड़े जारी हुए थे। मार्च में खुदरा महंगाई घटकर पांच महीने के निचले स्तर पर आ गई, जबकि फरवरी में औद्योगिक उत्पादन 7.1 प्रतिशत बढ़ा है। इससे शेयर बाजार में सकारात्मक निवेश धारणा बनी। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में करीब सवा फीसदी की तेजी रही और इसने बाजार की बढ़त का नेतृत्व किया।

कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी, इंफोसिस और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर भी मजबूती में बंद हुए। बीएसई के 20 में से 14 समूहों के सूचकांकों में तेजी रही। धातु समूह में सर्वाधिक एक प्रतिशत की बढ़त देखी गई, वहीं सबसे ज्यादा गिरावट टेक समूह में रही। सेंसेक्स 66.40 अंक चढ़कर 34,167.53 अंक पर खुला और पूरे दिन हरे निशान में रहा।

दोपहर बाद एक समय यह 34,313.14 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया था। हालांकि बाद में 34,103.53 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूता हुआ गत दिवस के मुकाबले 0.27 प्रतिशत यानी 91.52 अंक ऊपर 34,192.65 अंक पर बंद हुआ जो 27 फरवरी के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियों के शेयर हरे और शेष 12 के लाल निशान में रहे।

निफ्टी 36.65 अंक की बढ़त में 10,495.30 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका उच्चतम स्तर 10,519.90 अंक और निचला स्तर 10,451.45 अंक दर्ज किया गया। अंतत: यह गत दिवस के मुकाबले 0.21 प्रतिशत यानी 21.95 अंक की बढ़त में 10,480.60 अंक पर बंद हुआ। यह 28 फरवरी के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। निफ्टी की 50 में से 26 कंपनियां हरे और 23 लाल निशान में रहीं, जबकि एक के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशक लिवाल रहे। बीएसई का मिडकैप 0.46 प्रतिशत चढ़कर 16,677.76 अंक पर स्मॉलकैप 0.26 प्रतिशत चढ़कर 17,981.99 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,855 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,436 के शेयरों में बिकवाली और 1,285 में लिवाली का जोर रहा। अन्य 134 कंपनियों के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुए अंतत: गत दिवस के स्तर पर ही बंद हुए।

विदेशी बाजारों में मिलाजुला रुख रहा। एशिया में दक्षिण कोरिया कोस्पी 0.51 प्रतिशत और जापान का निक्की 0.55 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुआ। वहीं हांगकांग का हैंगसेंग 0.07 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.65 प्रतिशत की गिरावट में रहा। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.05 प्रतिशत लुढ़क गया, जबकि जर्मनी का डैक्स 0.68 प्रतिशत की तेजी में रहा।

बीएसई के 20 समूहों में 14 हरे निशान में रहे जबकि पांच में गिरावट रही। इंडस्ट्रियल्स समूह का सूचकांक अपरिवर्तित बंद हुआ। सबसे ज्यादा एक प्रतिशत की तेजी धातु समूह में रही। बेसिक मटेरियल्स, सीडीजीएंडएस, एनर्जी, फाइनेंस, स्वास्थ्य, आईटी, यूटिलिटीज, ऑटो, बैंकिंग, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, पावर, रियलिटी और टेक समूहों के सूचकांक भी बढ़त में बंद हुए।

सबसे ज्यादा 0.74 प्रतिशत की गिरावट टेक समूह में रही। बीएसई की कंपनियों में अदानी पोर्ट्स ने सर्वाधिक 2.66 प्रतिशत का मुनाफा कमाया। विप्रो में 2.28 फीसदी, कोटक महिंद्रा बैंक में 1.69, कोल इंडिया में 1.57, डॉ. रेड्डीज लैब में 1.37, रिलायंस इंडस्ट्रीज में 1.22, बजाज ऑटो में 1.12, एनटीपीसी में 1.03, इंडसइंड बैंक में 0.70, एचडीएफसी बैंक में 0.67, पावर ग्रिड, ओएनजीसी और आईसीआईसीआई बैंक तीनों में 0.61, इंफोसिस में 0.58, एलएंडटी में 0.48, टीसीएस में 0.44, एचडीएफसी बैंक में 0.09 और महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.03 प्रतिशत की तेजी रही।

भारतीय स्टेट बैंक के शेयर सबसे ज्यादा 1.22 प्रतिशत लुढ़के। एक्सिस बैंक में 1.17 फीसदी, यस बैंक में 0.66, मारुति सुजुकी में 0.65, भारती एयरटेल में 0.61, टाटा स्टील में 0.54, आईटीसी में 0.46, हीरो मोटोकॉर्प में 0.43, टाटा मोटर्स में 0.39, एशियन पेंट्स में 0.36, सनफार्मा में 0.32 और हिंदुस्तान यूनिलिवर में 0.25 प्रतिशत की गिरावट रही। (वार्ता)


और भी पढ़ें :