सेंसेक्स 118 अंक चढ़ा, दो सप्ताह के उच्चतम स्तर पर

मुंबई| पुनः संशोधित मंगलवार, 21 नवंबर 2017 (18:02 IST)
मुंबई। कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बीच के साथ दवा कंपनियों में हुई लिवाली से बीएसई का 118.45 अंक उछलकर दो सप्ताह से ज्यादा के उच्चतम स्तर 33,478.35 अंक पर पहुंच गया।
 
का निफ्टी भी 28.15 अंक की तेजी के साथ दो सप्ताह के उच्चतम स्तर 10,326.90 अंक पर बंद हुआ। विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक रुझान से भी घरेलू बाजार को बल मिला। यह लगातार चौथा दिन है जब बाजार हरे निशान में बंद हुआ है।
 
सेंसेक्स की कंपनियों में दवा निर्माताओं के शेयर सबसे ज्यादा चढ़े। डॉ. रेड्डीज लैब में करीब 5 प्रतिशत की तेजी रही। सनफार्मा के शेयर चार फीसदी और सिप्ला के दो प्रतिशत से अधिक चढ़े। कोल इंडिया, आईटीसी, टीसीएस ने बाजार पर दबाव बनाया। इसके बावजूद पूरे दिन बाजार हरे निशान में रहा। बीएसई के समूहों में टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद और स्वास्थ्य में सर्वाधिक तेजी रही।
 
सेंसेक्स 78.38 अंक की मजबूती के साथ 33,438.28 अंक पर खुला। इसका दिवस का निचला स्तर 33,437.61 आरंभिक कारोबार में ही दर्ज किया गया। दोपहर बाद यह 33,625.05 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। हालाँकि, इसके बाद शुरू हुई मुनाफावसूली से कारोबार की समाप्ति पर यह मात्र 0.36 प्रतिशत यानी 118.45 अंक की तेजी में 33,478.35 अंक पर रहा। 
 
यह 6 नवंबर के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। मझौली तथा छोटी कंपनियों में निवेशकों ने लिवाली की। बीएसई का मिडकैप 0.10 प्रतिशत चढ़कर 16,794.23 अंक पर और स्मॉलकैप 0.37 प्रतिशत की बढ़त में 17,813.07 अंक पर पहुँच गया। बीएसई में कुल 2,858 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,465 के शेयर बढ़त में और 1,223 के गिरावट में रहे। वहीं, 170 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।
 
निफ्टी भी 30.50 अंक चढ़कर 10,329.25 अंक पर खुला। यह 10,358.70 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,315.05 अंक के न्यूनतम स्तर से होता हुआ अंतत: गत दिवस के मुकाबले 0.27 प्रतिशत यानी 118.45 अंक चढ़कर 10,326.90 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 29 कंपनियों के शेयर हरे और 20 के लाल निशान में रहे जबकि एक में कोई बदलाव नहीं हुआ। 
 
वैश्विक स्तर पर अधिकतर प्रमुख हरे निशान में रहे। एशिया में दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.12 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.55 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.70 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसेंग 1.91 प्रतिशत की बढ़त में बंद हुआ। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.05 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.15 प्रतिशत चढ़ गया।
 
मजबूत निवेश धारणा के बीच बीएसई के 20 में से 16 समूह हरे निशान में रहे जबकि अन्य चार में गिरावट रही। सबसे ज्यादा 1.98 फीसदी की तेजी टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद समूह में रही। इसके बाद स्वास्थ्य समूह में 1.76 प्रतिशत और दूरसंचार में एक प्रतिशत की तेजी रही। बेसिक मटिरियल्स, सीडीजीएंडएस, एनर्जी, इंडस्ट्रियल्स, आईटी, टेक, यूटिलिटीज, ऑटो, पूंजीगत वस्तुएं, धातु, तेल एवं गैस और पावर समूहों में भी बढ़त रही। सबसे ज्यादा 1.33 प्रतिशत की गिरावट रियलिटी समूह में रही।
 
सेंसेक्स की 30 में से 20 कंपनियों के शेयर हरे और नौ के लाल निशान में रहे जबकि मारुति सुजुकी के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुये अंतत: अपरिवर्तित बंद हुये। डॉ. रेड्डीज लैब में सबसे ज्यादा 4.99 प्रतिशत की तेजी रही। सनफार्मा के शेयर 4.18, सिप्ला के 2.31, भारती एयरटेल के 2.13, एनटीपीसी के 1.61, बजाज ऑटो के 1.54, टाटा स्टील के 1.51, रिलायंस इंडस्ट्रीज के 1.47, ल्युपिन के 1.39, महिंद्रा एंड महिंद्रा के 0.68, हीरो मोटोकॉर्प के 0.60, अदानी पोर्ट्स के 0.55, इंफोसिस के 0.53, एचडीएफसी बैंक के 0.50, आईसीआईसीआई बैंक के 0.49, ओएनजीसी के 0.47, टाटा मोटर्स के 0.44, एक्सिस बैंक के 0.35, हिन्दुस्तान यूनिलिवर के 0.25 और एचडीएफसी के 0.14 प्रतिशत चढ़े।
 
सबसे ज्यादा 1.51 फीसदी की गिरावट कोल इंडिया में रही। आईटीसी के शेयर 1.08 प्रतिशत, टीसीएस के 1.04, पावर ग्रिड के 1.03, कोटक महिंद्रा के 0.77, भारतीय स्टेट बैंक के 0.69, एशियन पेंट्स के 0.58, एलएंडटी के 0.49 और विप्रो के 0.22 प्रतिशत की गिरावट में रहे। (वार्ता) 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :