बिकवाली के दबाव में सेंसेक्‍स टूटा, निफ्टी भी फिसला

पुनः संशोधित बुधवार, 5 सितम्बर 2018 (16:50 IST)
मुंबई। डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा के रिकॉर्ड निचले स्तर तक का गोता लगाने और दुनियाभर के बाजारों से मिली गिरावट की खबरों से हतोत्साहित निवेशकों की बिकवाली लगातार छठे दिन बुधवार को भी घरेलू पर हावी रही।

बिकवाली के दबाव में बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 139.61 अंक फिसलकर 38,018.31 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 43.35 अंक टूटकर 11,476.95 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स मामूली बढ़त के साथ 38,192.95 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 38,250.61 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। कारोबार के दौरान यह 38 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से लुढ़ककर 37,764.42 अंक के दिवस के निचले स्तर तक गया। वैश्विक व्यापार युद्ध की चिंताओं ने विदेशी बाजारों के साथ घरेलू निवेशकों की धारणा भी कमजोर कर दी। अन्य एशियाई देशों की मुद्राओं के तर्ज पर भारतीय मुद्रा की गिरावट भी बाजार पर हावी रही।

कारोबार के दौरान रुपया 71.96 रुपए प्रति डॉलर के निचले स्तर तक लुढ़का। सेंसेक्स अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.37 प्रतिशत की गिरावट में 38,018.31 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियां हरे निशान में और शेष 15 लाल निशान में रहीं। निफ्टी का ग्राफ सेंसेक्स के विपरीत रहा। यह गिरावट के साथ 11,514.85 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान 11,542.65 अंक के दिवस के उच्चतम और 11,393.85 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.38 प्रतिशत की गिरावट में 11,476.95 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 25 कंपनियां तेजी में और 25 गिरावट में रहीं। दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा मझोली और छोटी कंपनियों में अधिक बिकवाली हुई।

बीएसई का मिडकैप 0.61 प्रतिशत यानी 99.89 अंक लुढ़ककर 16,267.40 अंक पर और स्मॉलकैप 0.52 प्रतिशत यानी 87.30 अंक की गिरावट में 16,727.76 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,930 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 170 कंपनियों के शेयर अपरिवर्तित रहे जबकि 1,791 कंपनियों में गिरावट और 1,040 कंपनियों में तेजी रही। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :