सेंसेक्स 19 अंक टूटा, निफ्टी सपाट

Last Updated: बुधवार, 3 जनवरी 2018 (19:13 IST)
मुंबई। ऑटो, बैंकिंग, फार्मा और आईटी क्षेत्र की कंपनियों में बिकवाली के दबाव में गुरुवार को बीएसई का सेंसेक्स 18.88 अंक टूटकर 33,793.38 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी एक अंक के मामूली सुधार के साथ 10,443.20 अंक पर पहुंच गया।

विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच बाजार ने तेजी के साथ शुरुआत की। सेंसेक्स 117.35 अंक चढ़कर 33,929.61 अंक पर खुला और पहले घंटे के कारोबार में ही 33,998.37 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया, लेकिन दिग्गज और बड़ी कंपनियों में मुनाफा वसूली ने बाजार पर दबाव बनाया।

इससे एक समय सूचकांक 33,765.43 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस के मुकाबले 0.06 प्रतिशत यानी 18.88 अंक लुढ़ककर 33,793.38 अंक पर बंद हुआ। यह 21 दिसंबर 2017 के बाद का इसका निचला स्तर है।

सेंसेक्स की कंपनियों में डॉ. रेड्डीज लैब के शेयर सबसे ज्यादा करीब तीन प्रतिशत टूटे। विप्रो में पौने तीन फीसदी और ओएनजीसी तथा बजाज ऑटो में डेढ़ प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट रही। एचडीएफसी बैंक, टाटा मोटर्स और मारुति सुजुकी के शेयर भी एक प्रतिशत से ज्यादा लुढ़के। अदानी पोर्ट्स ने पौने तीन प्रतिशत और एलएंडटी ने दो प्रतिशत से अधिक का मुनाफा कमाया।

निफ्टी 40.45 अंक चढ़कर 10,482.65 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका उच्चतम स्तर 10,503.60 अंक और निचला स्तर 10,429.55 अंक दर्ज किया गया। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस के मुकाबले 0.01 प्रतिशत यानी एक अंक ऊपर 10,443.20 अंक पर रहा। निफ्टी की 50 कंपनियों में से 28 बढ़त में और 22 गिरावट में रहीं।

मजबूत निवेश धारणा के बीच मझौली और छोटी कंपनियों में लिवाली का जोर रहा। बीएसई का मिडकैप 0.53 प्रतिशत चढ़कर 17,819.32 अंक पर और स्मॉलकैप 0.98 प्रतिशत की तेजी के साथ 19,345.46 अंक पर पहुंच गया।

बीएसई में कुल 3,003 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,911 के शेयर हरे और 973 के लाल निशान में बंद हुए, जबकि 119 के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :