तीन दिन की गिरावट से उबरे शेयर बाजार

पुनः संशोधित बुधवार, 21 फ़रवरी 2018 (17:44 IST)
मुंबई। अधिकतर एशियाई बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच आईटी और टेक समूहों में जमकर हुई लिवाली के दम पर घरेलू लगातार तीन दिन की गिरावट से उबरने में कामयाब रहे। निवेशकों की धारणा में सुधार से बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 141.27 अंक की बढ़त में 33,844.86 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 37.05 अंक की तेजी में 10,397.45 अंक पर बंद हुआ।

सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता कंपनियों के संगठन नासकॉम ने मंगलवार को जारी अपनी रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान इस क्षेत्र का निर्यात 137 अरब डॉलर होने का अनुमान व्यक्त किया था। नासकॉम की सकारात्मक रिपोर्ट से निवेशकों का मनोबल बढ़ा। सेंसेक्स 110.24 अंक की तेजी के साथ 33,813.83 अंक पर खुला और 33,911.36 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक गया।

हालांकि अमेरिका में 10 साल के बांड पर ब्याज के चार साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने से बाजार पर दबाव भी बना रहा और यह 33,702.50 अंक के निचले स्तर तक उतरा। अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.42 फीसदी चढ़कर 33,844.86 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियों के शेयरों में तेजी रही। बाजार पर पंजाब नेशनल बैंक में हुए फर्जी लेनदेन का असर कम होता दिख रहा है।

बैंक के शेयर लगातार दूसरे दिन तेजी में रहे और इनमें 0.47 प्रतिशत की बढ़त रही। हालांकि इस मामले में कथित रूप से संलिप्त गीतांजलि जेम्स लिमिटेड के शेयरों में गिरावट का दौर जारी रहा। बुधवार को इनमें 9.85 फीसदी की गिरावट रही। निफ्टी भी 65.60 अंक की तेजी में 10,426.00 पर खुला।

कारोबार के दौरान 10,426.10 अंक के उच्चतम और 10,349.60 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.36 प्रतिशत कमजोर होकर 10,397.45 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 29 कंपनियों के शेयरों में तेजी और शेष 21 में गिरावट रही।

बीएसई में कुल 2,870 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 1,730 तेजी में, 1,592 गिरावट में और शेष 148 के शेयरों की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ। बीएसई के 20 समूहों में से नौ समूहों के सूचकांक में तेजी रही, जिनमें आईटी में 2.20 और टेक में 1.79 फीसदी की बढ़त रही।

दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मझोली कंपनियों पर बिकवाली का दबाव रहा। बीएसई का मिडकैप 0.05 अंक यानी 0.05 फीसदी लुढ़ककर 16,411.46 अंक पर और स्मॉलकैप 0.17 प्रतिशत यानी 30.90 अंक लुढ़ककर 17,800.14 अंक पर बंद हुआ।

अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक को लेकर निवेशकों के सतर्कता बरतने से यूरोपीय बाजार गिरावट में खुले। शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.25 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.74 प्रतिशत की गिरावट में रहा। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.21 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 1.81 और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.60 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ।

बीएसई के 20 समूहों में आईटी 2.20, टेक 1.79, एफएमसीजी 0.75, ऊर्जा 0.67, तेल एवं गैस 0.42, बैंकिंग 0.29, वित्त 0.24, दूरसंचार 0.20 और पीएसयू 0.07 प्रतिशत तेजी में रहे। इसके अलावा धातु में 1.27, बेसिक मटेरियल्स में 0.87, सीडीजीएस में 0.27, स्वास्थ्य में 1.20, इंडस्ट्रियल्स में 0.33, यूटिलिटीज में 0.35, ऑटो में 0.19, पूंजीगत वस्तुओं में 0.58, सीडी में 0.57, बिजली में 0.31 और रियल्टी में 0.79 प्रतिशत की गिरावट रही।
सेंसेक्स की 18 कंपनियों के शेयरों के भाव में बढ़त रही।

टीसीएस में सबसे अधिक 3.33 प्रतिशत की तेजी रही। आईटीसी में दो प्रतिशत, ओएनजीसी में 1.66, भारतीय स्टेट बैंक में 1.28, इंफोसिस में 1.23, रिलायंस इंडस्ट्रीज में 0.97, कोटक महिंद्रा बैंक में 0.93, यस बैंक में 0.92, एचडीएफसी में 0.83, एक्सिस बैंक में 0.66, मारुति सुजुकी में 0.66, आईसीआईसीआई बैंक में 0.52, भारती एयरटेल में 0.41, विप्रो में 0.31, डॉ रेड्डीज लैब में 0.31, कोल इंडिया में 0.21, हीरो मोटोकॉर्प में 0.18 और अदानी पोटर्स में 0.11 प्रतिशत की तेजी रही।

सनफार्मा के शेयरों के भाव 6.19 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक के 1.93, टाटा स्टील के 1.57, टाटा मोटर्स के 1.23, बजाज ऑटो के 0.97, एनटीपीसी के 0.92, एलएंडटी के 0.57, एचडीएफसी बैंक के 0.44, पावर ग्रिड के 0.23, एशियन पेंट्स के 0.10 और महिंद्रा एंड महिंद्रा के 0.08 प्रतिशत लुढ़के। (वार्ता)


और भी पढ़ें :