सुनील छेत्री के कमाल से बेंगलुरु ने रचा इतिहास

पुनः संशोधित गुरुवार, 20 अक्टूबर 2016 (00:47 IST)
Widgets Magazine
बेंगलुरु। कप्तान सुनील छेत्री के दो शानदार गोलों के दम पर आई लीग चैंपियन बेंगलुरु एफसी ने मलेशिया के जोहोर दारुल ताजिम क्लब को बुधवार को कुल 4-2 के अंतर से पराजित कर के फाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया। 
बेंगलुरु इस तरह एएफसी कप के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय टीम बन गई है और इस जीत का पूरा श्रेय जाता है कप्तान छेत्री को, जिन्होंने दोनों हाफ में एक-एक गोल दागा। छेत्री ने 41 वें मिनट में पहला गोल और 67 वें मिनट में दूसरा गोल किया।
 
बेंगलुरु ने टूर्नामेंट के दूसरे सेमीफाइनल के दूसरे चरण के घरेलू मुकाबले को 3-1 से जीता। इससे पहले बेंगलुरु ने मलेशियाई क्लब की जमीन पर पहला चरण 1-1 से ड्रॉ खेला था। इस तरह भारतीय क्लब ने सेमीफाइनल मुकाबला कुल 4-2 के अंतर से जीत लिया।
 
5 नवंबर को होने वाले खिताबी मुकाबले में बेंगलुरु एफसी का मुकाबला इराक के अल कुआवा अल जाविया क्लब से होगा जिसने पहले सेमीफाइनल में लेबनान के अल अहत क्लब को 3-2 के कुल अंतर से हराया था। (वार्ता)
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine