Widgets Magazine

फेडरर ने आठवें विंबलडन ताज के साथ रचा इतिहास

लंदन| पुनः संशोधित रविवार, 16 जुलाई 2017 (20:55 IST)
लंदन। ग्रास कोर्ट के बेताज बादशाह स्विट्जरलैंड के ने करिश्माई प्रदर्शन करते हुए क्रोएशिया के को रविवार को 6-3, 6-1, 6-4 से ध्वस्त कर रिकॉर्ड आठवीं बार का पुरुष एकल जीतकर नया इतिहास रच दिया। 
         
35 वर्षीय फेडरर विंबलडन को आठ बार जीतने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए। 11वीं बार विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप का पुरुष एकल फाइनल खेल रहे तीसरी सीड फेडरर ने सातवीं सीड सिलिच को एक घंटे 41 मिनट में मात दे दी। 
   
    
फेडरर ने अपने आठवें विंबलडन खिताब के साथ ब्रिटेन के विलियम रेनशॉ और अमेरिका के पीट सैम्प्रास को पीछे छोड़ दिया। रेनशॉ ने 1968 में ओपन युग शुरु होने से पहले सात बार यह खिताब जीता था जबकि सम्प्रास ने ओपन युग में सात बार यह खिताब अपने नाम किया था। 
       
अब फेडरर इन दोनों दिग्गज खिलाड़ियों से आगे निकल गए है। फेडरर का यह 19वां ग्रैंड स्लेम खिताब भी है। उन्होंने इस साल के शुरू में ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब भी जीता था। 
स्विस मास्टर ने विंबलडन की तैयारी के लिए इस साल खुद को फ्रेंच ओपन सहित पूरे क्ले कोर्ट सत्र से दूर रखा था। उनका यह फैसला सही साबित हुआ और उन्होंने अपना 19वां ग्रैंड स्लेम खिताब जीत लिया। पहली बार विंबलडन चैंपियनशिप का खिताबी मुक़ाबला खेल रहे सिलिच अपना दूसरा ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने से कोसों दूर रह गये। वर्ष 2014 में यूएस ओपन चैंपियन रहे सिलिच के पास फेडरर के मास्टर क्लास का कोई जवाब नहीं था। 
         
35 वर्ष की उम्र में ओपन युग में विंबलडन के दूसरे सबसे उम्रदराज फाइनलिस्ट बने फेडरर ने सिलिच के खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 7-1 का कर लिया है। यह माना जा रहा था कि सिलिच ने फाइनल में पहुंचने तक जैसा प्रदर्शन किया है, वह फेडरर के सामने कुछ चुनौती पेश कर सकेंगे लेकिन ग्रास कोर्ट किंग फेडरर ने उन्हें मैच में कोई मौका नहीं दिया। 
         
फेडरर ने मैच में आठ एस और 23 विनर्स लगाए। उन्होंने 10 मौकों में पांच बार सिलिच की सर्विस तोड़ी। जोरदार सर्विस करने वाले सिलिच 16 विनर्स ही लगा पाए और उन्होंने 23 बेजां भूले की। पूरे मैच के दौरान सिलिच को मात्र एक बार फेडरर की सर्विस तोड़ने का मौका, लेकिन वह उसका फायदा नहीं उठा पाए। 
         
फेडरर का इस साल यह पांचवां खिताब है, जिसमें दो ग्रैंड स्लेम खिताब शामिल हो गए हैं। फेडरर ने विंबलडन में अपना पहला खिताब 2003 में आस्ट्रेलिया के मार्क फिलिपोसिस को हराकर जीता था। उन्होंने 2004 और 2005 में अमेरिका के एंडी रोडिक को फाइनल में हराया। 
        
स्विस मास्टर ने 2006 और 2007 में स्पेन के राफेल नडाल को परास्त कर लगातार पांचवां विंबलडन खिताब जीता। फेडरर को 2008 में नडाल के हाथों हार का सामना करना पड़ा, लेकिन 2009 में फेडरर ने रोडिक को हराकर अपना छठा खिताब जीत लिया। 
         
फेडरर 2010 और 2011 में फाइनल में नहीं पहुंच सके। उन्होंने 2012 में ब्रिटेन के एंडी मरे को हराकर अपना सातवां विंबलडन और 17वां ग्रैंड स्लेम खिताब जीता। फेडरर 2013 में फाइनल में नहीं पहुंच पाए जबकि 2014 और 2015 में उन्हें सर्बिया के नोवाक जोकोविच से फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। वर्ष 2016 में भी वह फाइनल में नहीं पहुंच पाए। 
       
35 वर्षीय फेडरर को अपने 18वें ग्रैंड स्लेम खिताब के साढ़े चार साल से अतिरिक्त समय का इंतजार करना पड़ा और इस इंतजार को उन्होंने 2017 में ऑस्ट्रेलियन ओपन में पूरा किया। उन्होंने अपने ग्रैंड स्लेम खिताबों के खजाने को 19 पहुंचा दिया है।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine