सिंहस्थ के 'सार्वभौम' संदेश का तुरन्त हो क्रियान्वयन : शिवराज

भोपाल| पुनः संशोधित मंगलवार, 17 मई 2016 (00:38 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि अंतरराष्ट्रीय में लोकार्पित किए गए सिंहस्थ के सार्वभौम संदेश का क्रियान्वयन तुरन्त शुरू किया जाए। सभी विभाग इसके लिए कार्ययोजना बनाएं। 
     
आधिकारिक जानकारी में बताया गया कि मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सभी संबंधित विभाग आगामी दस दिन में कार्ययोजना तैयार करें। मुख्य सचिव विभागों की कार्ययोजना की समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि सिंहस्थ के सार्वभौम संदेश के क्रियान्वयन के लिए की गई घोषणाओं पर संबंधित विभाग तुरन्त कार्रवाई शुरू करें। 
 
इसमें मुख्य रूप से आनंद मंत्रालय का गठन, नदियों के पुनर्जीवन और नर्मदा-क्षिप्रा के किनारे वृक्षारोपण, स्कूली पाठ्यक्रम में सर्वधर्म समादर की भावना विकसित करने, नैतिक शिक्षा एवं बेटियों के प्रति सद्भाव बढ़ाने वाले पाठ शामिल करना हैं। 
 
इसके अलावा आयुर्वेद पद्धति को बढ़ावा, स्कूलों में योग शिक्षक की नियुक्ति, अपने घरों में शौचालय नहीं बनवाने पर स्थानीय चुनाव लड़ने से अयोग्य घोषित करने, कुटीर उद्योगों को बढ़ावा, रासायनिक उर्वरकों के प्रयोग को कम करने और जैविक खेती को बढ़ावा तथा नारी प्रतिष्ठा और गरिमा को ध्यान में रखते हुए विज्ञापनों में नारी के प्रदर्शन को रोकने के लिए कार्रवाई करना शामिल है।
     
बैठक में मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :