ये हैं 52 बातें जिनके कारण आप नहीं बन पा रहे हैं करोड़पति

प्रत्येक व्यक्ति जीवन में अपार धन कमाना चाहता है लेकिन लाख प्रयास के बाद भी वह सफल नहीं हो पाता है तो यह जानना जरूरी है कि उसकी असफलता का कारण क्या है। असफलता के दो कारण होते हैं पहला आपका अधूरा कर्म या दूसरा आपके भाग्य का साथ न देना। लेकिन वास्तु और ज्योतिष अनुसार कुछ ओर भी कारण हो सकते हैं तो जानिए कि वे कौन से कारण हैं।

1.घर में खंडित, टूटी-फूटी चीजों का होना।
2.घर में मकड़ी के जाले का होना।
3.घर में कबूतर के घोंसले का होना।
4.बिजली के बिखरे या ढीले तार का होना
5.कपड़े सुखाने के कटे-फटे तार आदि का होना।
6.बिजली के उपकरण का खराब या बंद होना।
7.नकारात्मक चित्रों का होना जैसे ताजमहल, डूबती हुई नाव आदि।
8.फटे पुराने कपड़े की पोटली, कबाड़ा आदि का होना।
9.कांटेदार पेड़-पौधे या नकारात्मक शो-प्लांट का होना।
10.तंबाकू खाना, शराब पीना या सिगरेट पीना।
11.शरीर के छिद्रों को गंदा रखना।
12.संधिकाल में नकारात्मक सोचना।
13.प्रतिदिन क्रोध करते रहना।
14.देवी, देवता का अपमान करना।
15.झूठ बोलना और धोखा देना।
16.स्त्री, वृद्ध, बच्चे, पशु और पक्षियों को सताना।
17.रसोई घर के पास में पेशाब करना।
18.बांए पैर से पैंट पहनना।
19.मेहमान आने पर नाराज होना।
20.चालीस दीन से ज्यादा बाल रखना।
21.दांत से नाखून काटना।
22.औरतों का खड़े-खड़े बाल बांधना।
23.फटे हुए कपड़े पहनना।
24.पेड़ के नीचे या खड़े-खड़े पेशाब करना।
25.मंदिर में बातें करना।
26.शमशान भूमी में हंसना।
27.किसी की गरीबी और लाचारी का मजाक उड़ाना।
28.पवित्रता के बगैर धर्मग्रंथ पढ़ना।
29.दरवाजे पर बैठना या देहली पर खड़े रहना।
30.शौच करते वक्त बातें करना।
31.लहसुन या प्याज के छीलके जलाना।
35.हाथ धोए बगैर भोजन करना।
36.जूते-चप्पल उल्टा देख कर उसको सीधा नहीं करना।
37.घड़े में मुंह लगाकर पानी पीना।
38.नदी, तालाब के किनारे शौच या पेशाब करना।
39.गाय और बैल को लात मारना।
40.मध्यरात्रि में भोजन करना।
41.गंदे बिस्तर में सोना।
42.धर्म का मजाक उड़ाना या अपमान करना।
43.भोजन की थाली में ही हाथ धोना।
44.रात्रि में जूठे बर्तन छोड़ देना।
45.भूखे को देखकर भोजन न खिलाना।
46.भोजन करने से पूर्व देवताओं का आह्वान न करना।
47.रात में चावल, दही और सत्तू का सेवन करना।
48.खुले में और दक्षिण में मुंह करने भोजन करना।
49.सुबह कुल्ला किए बिना पानी या चाय पीना।
50.घर में नल आदि से जल का टपकता रहना।
51.बार-बार थूकने, झींकने या खांसने की आदत होना।
52.पैर घसीटते हुए चलना।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

बांग्लादेश में हैं माता के ये 5 शक्तिपीठ

बांग्लादेश में हैं माता के ये 5 शक्तिपीठ
भारत का बंटवारा जब हुआ था तब भारतीय हिन्दुओं ने अपने कई तीर्थ स्थल, शक्तिपीठ और प्राचीन ...

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?
अतिथि कौन? वेदों में कहा गया है कि अतिथि देवो भव: अर्थात अतिथि देवतास्वरूप होता है। अतिथि ...

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

मांग में सिंदूर क्यों सजाती हैं विवाहिता?

मांग में सिंदूर क्यों सजाती हैं विवाहिता?
मांग में सिंदूर सजाना एक वैवाहिक संस्कार है। सौभाग्यवती स्त्रियां मांग में जिस स्थान पर ...

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें
रोजमर्रा में हम ऐसी गलतियां करते हैं जो वास्तु के अनुसार सही नहीं होती। आइए जानते हैं कुछ ...

हिंदू धर्मग्रंथों का सार, जानिए किस ग्रंथ में क्या है?

हिंदू धर्मग्रंथों का सार, जानिए किस ग्रंथ में क्या है?
अधिकतर हिंदुओं के पास अपने ही धर्मग्रंथ को पढ़ने की फुरसत नहीं है। वेद, उपनिषद पढ़ना तो ...

हिन्दू धर्मग्रंथ गीता : कब, कहां, क्यों?

हिन्दू धर्मग्रंथ गीता : कब, कहां, क्यों?
3112 ईसा पूर्व हुए भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। कलियुग का आरंभ शक संवत से 3176 वर्ष ...

केदारनाथ के प्रादुर्भाव से 2013 तक के इतिहास पर लेजर शो 28 ...

केदारनाथ के प्रादुर्भाव से 2013 तक के इतिहास पर लेजर शो 28 अप्रैल से
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को कहा कि इस बार केदारनाथ में ...

क्या मोबाइल का नंबर बदल कर चमका सकते हैं किस्मत के तारे...

क्या मोबाइल का नंबर बदल कर चमका सकते हैं किस्मत के तारे...
अंकशास्त्र के अनुसार अगर मोबाइल नंबर में सबसे अधिक बार अंक 8 का होना शुभ नहीं होता है। ...

याद रखें यह 5 वास्तु मंत्र, हर संकट का होगा अंत

याद रखें यह 5 वास्तु मंत्र, हर संकट का होगा अंत
निवास, कारखाना, व्यावसायिक परिसर अथवा दुकान के ईशान कोण में उस परिसर का कचरा अथवा जूठन ...

राशिफल