0

गणतंत्र को निगलता मनमानी तंत्र

शनिवार,जनवरी 26, 2013
0
1
भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 को भारतीय गणराज्य के राष्ट्रपति पद की शपथ ली। उस अवसर पर ...
1
2
संविधान निर्माण के समय, कुछ अधिकारों को बाध्यकारी मानकर मूलाधिकारों के खंड में रखा गया था, परन्तु कुछ अधिकारों को ...
2
3
भारत के प्रथम राष्‍ट्रपति डॉ. राजेन्‍द्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 को 21 तोपों की सलामी के बाद भारतीय राष्‍ट्रीय ध्‍वज को ...
3
4
जिसकी गोदी में गौतम-गांधी का जीवित दर्शन है हे भारत मां तेरा अभिनन्दन है। तुझे करोड़ों हाथों का यह वंदन है। तन-मन-धन ...
4
4
5

पावन है गणतंत्र यह

बुधवार,जनवरी 25, 2012
पावन है गणतंत्र यह, करो खूब गुणगान। भाषण-बरसाकर बनो, वक्ता चतुर सुजान॥ वक्ता चतुर सुजान, देश का गौरव गाओ। श्रोताओं का ...
5
6
गणतंत्र दिवस है प्रतीक स्वाभिमान का सद्भाव का, सद्बुद्धि का, उस संविधान का जिसने सभी धर्मों का नित सम्मान किया है जो ...
6
7

हिन्दी दोहे गणतंत्र के

बुधवार,जनवरी 25, 2012
भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान। छह दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान॥ सब धर्मों को मान दे, रचा गया इतिहास। इसीलिए ...
7
8

गणतंत्र दिवस फिर आया है

बुधवार,जनवरी 25, 2012
आज नई सज-धज से गणतंत्र दिवस फिर आया है। नव परिधान बसंती रंग का माता ने पहनाया है। भीड़ बढ़ी स्वागत करने को बादल झड़ी लगाते ...
8
8
9
सत्य औ अहिंसा का, देता जो मंत्र है हर्षोल्लास भरा, दिवस गणतंत्र है। आबाल वृद्ध, नर नारी के, ह्रदय में देश प्रेम, ...
9
10
राष्ट्रगीत हो या राष्ट्रध्वज देशवासियों के आन-बान और शान के साथ प्रेरणा स्रोत होता है। जो राष्ट्रीय सार्वभौमिकता का ...
10
11

राष्ट्र गान के अंतिम पद

बुधवार,जनवरी 25, 2012
अहरह तव आह्वान प्रचारित, शुनि तव उदार बाणी। हिन्दु बौद्घ शिख जैन पारसिक, मुसलमान ख्रिस्तानी। पूरब पश्चिम आसे, तव ...
11