ये 3 काम करेंगे तो हो जाएंगे बर्बाद

शुक्रवार,सितम्बर 22, 2017
यदि आप मानसिक तनाव में रहते हैं। घर में खुशियां नहीं हैं या किसी प्रकार का संताप रहता है, तो मात्र तीन प्रकार की सुगंध ...
किसी भी कार्य का प्रारंभ करने के लिए शुभ लग्न और मुहूर्त को देखा जाता है। जानिए वह कौन-सा वार, तिथि, माह, वर्ष लग्न, ...
पूजा का अर्थ आराधना है। यह वैदिक काल के यज्ञ से निकली है। वैदिक काल के लोग पूजा नहीं आराधना और करते थे। यज्ञ को छोड़कर ...
दुनिया के हर धर्म में श्राद्ध कर्म होता है जो हिन्दू धर्म से ग्रहण किया गया है। हिन्दू धर्म में दो तरह की विचारधारा है ...
Widgets Magazine
घर में मूर्तियां रखनी चाहिए या नहीं, रखें तो कितनी रखें और कितनी बढ़ी मूर्तियां रखें इस संबंध में हिन्दू धर्म और ...
हिन्दू धर्म में प्राचीनकाल से ही पांच संप्रदायों का प्रचलन रहा है:- शैव, वैष्णव, शक्त, वैदिक और स्मार्त। सभी संप्रदाय ...
धार्मिक कड़ा पहनने के नियम उसी तरह हैं जिस तरह की यज्ञोपवीत पहनने के नियम हैं। बहुत से लोग कड़ा पहनने के बाद किसी भी ...
हिन्दू धर्म में सुगंध या खुशबू का बहुत महत्व माना गया है। वह इसलिए कि सात्विक अन्न से शरीर पुष्ट होता है तो सुगंध से ...
Widgets Magazine
सेहतमंद खाना पकाने के लिए आप तेल-मसालों पर तो पूरा ध्यान देते हैं लेकिन क्या आप खाना पकाने के लिए बर्तनों पर ध्यान देते ...
किसी भी कार्य का प्रारंभ करने के लिए शुभ लग्न और मुहूर्त को देखा जाता है। जानिए वह कौन-सा वार, तिथि, माह, वर्ष लग्न, ...
हमारे ऋषि-मुनि कह गए हैं, 'पहला सुख निरोगी काया, दूसरा सुख जेब में हो माया।' यदि काया अर्थात शरीर रोगी है तो आप धन कैसे ...
यदि आप प्रतिदिन घर या मंदिर में पूजा या प्रार्थना करते हैं तो आपको कुछ नियम भी पालने चाहिए। नियम है तो धर्म है और धर्म ...
व्रत रखने के नियम दुनिया को हिंदू धर्म की देन है। हिंदू धर्म में व्रत रखने के कई नियम है और इसका बहुत ही महत्व है। व्रत ...
सप्ताह के व्रतों में गुरुवार श्रेष्ठ, पक्ष के व्रतों में एकादशी और प्रदोष ही श्रेष्ठ, वर्ष के व्रतों में चतुर्मास ...
कोई मंत्र कब होता है सिद्ध, एक लाख बार जपने पर या कि 108 बार जपने पर ही सिद्ध हो जाता है? सिद्ध हो जाता है तब क्या होता ...
सभी के पास एक शरीर है दो नहीं। लेकिन उस एक शरीर में दो चीजें है। जैसे दो हाथ, दो पैर, दो आंख, नाक के दो छिद्र, दो ...
कई लोग ऐसे हैं जो शनि की साढ़े साती, काल सर्प दोष, मंगल दोष और पितृ दोष से डर जाते हैं। कुछ लोग तो चंद्र ग्रहण, सूर्य ...
हमारे मन में किसी भी प्रकार का भय, संदेह, संकोच और अन्य विकार तब नहीं रहता है जबकि हम कुछ खास बातों से डरते हैं या कि ...
अच्छा होना या बनना बहुत ही कठिन कार्य है। व्यक्ति को नकारात्मक बातें फ्री में मिलती है और वह भी चारों ओर से। बचपन से ...