दार्जिलिंग में फिर हिंसा, पुलिस अधिकारी और गोरखा कार्यकर्ता की मौत

दार्जिलिंग| पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 अक्टूबर 2017 (12:33 IST)
दार्जिलिंग। पश्चिम बंगाल में के तवाकर क्षेत्र में बिमल गुरुंग के नेतृत्व वाले गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) और सुरक्षा बलों के बीच हिंसा की ताजा झड़पों में एक सहायक पुलिस उपनिरीक्षक और एक नागरिक की मौत हो गई तथा कई अन्य घायल हो गए। पुलिस सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।
सूत्रों ने बताया कि पुलिसकर्मी की पहचान अमातिवा मलिक के तौर पर की गई है और मोर्चा समर्थक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो सकी है। पुलिस ने बताया कि एक गुप्त सूचना मिली थी कि गुरुंग तवाकर के लेपचा बस्ती क्षेत्र में कहीं छिपा हुआ है और इसके बाद जब पुलिसकर्मी वहां पहुंचे तो उन पर अचानक गोलियां चलाई जाने लगीं।

स्थानीय लोगों ने मानव ढाल बनाकर गुरुंग को वहां से भागने में मदद की, लेकिन वह अभी भी इसी क्षेत्र मे छिपा हुआ है। दार्जिलिंग में इस आंदोलन की शुरुआत आठ जून से हुई थी और अब तक इसमें 12 लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन पुलिस के किसी अधिकारी के मारे जाने का यह पहला मामला है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :