उत्तरप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्रियों के खाली बंगलों में गायब सामान की बनेगी सूची

Last Updated: सोमवार, 11 जून 2018 (17:38 IST)
लखनऊ। कानूनी सलाह लेने के बाद उत्तर प्रदेश का राज्य संपत्ति विभाग ने हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए गए बंगलों में सरकारी संपत्ति के नुकसान की जांच का फैसला लिया है। संपत्ति अधिकारी योगेश शुक्ला ने सोमवार को बताया कि विभाग के कर्मचारियों ने खाली बंगलों के सामान की सूची बनानी शुरू कर दी है। अगर कोई सामान गायब मिलता है तो उस दशा में संबंधित पूर्व मुख्यमंत्री को नोटिस भेजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, राजनाथ सिंह, मायावती और के खाली किए गए सरकारी बंगलों में सामान का मिलान पुराने दस्तावेजों में दर्ज सामान से कराया जा रहा है जिसके बाद बंगलों में गायब सामान की सूची बनाई जाएगी।

पिछले शनिवार को संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा खाली किए गए बंगले को मीडिया की मौजूदगी में खोला था। बंगले में कई जगह टूटफूट पाई गई।
इस मामले में सूबे के मौजूदा परिवहन राज्यमंत्री स्‍वतंत्रदेव सिंह ने रविवार को मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी। सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने बंगले में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाकर उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवहेलना की। जांच में सच्चाई का पता चल जाएगा।

खुद को गरीब और निचले तबके का हमदर्द बताने वाले अखिलेश यादव जैसे नेता असल में जनता की गाढ़ी कमाई से विलासिता का जीवन जीने के आदी हैं। एसी और इटालियन टाइल्स उन्हें नहीं निकालनी चाहिए थी क्योंकि यह उनकी निजी नहीं बल्कि सरकारी संपत्ति है।

उधर अखिलेश यादव ने खुद का बचाव करते हुए भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि बंगला मुद्दा को उछालकर सत्तारुढ़ दल उनकी बेदाग छवि को बदनाम करने का कुचक्र रच रहा है। मैं ने सिर्फ अपनी लगाई चीजों को बंगले से निकाला है। मैंने कोई भी महं गा सामान बंगले से नहीं निकाला बल्कि प्रभु कृष्ण का मंदिर और महंगे पेड़-पौधे पर उन्होंने हाथ भी नहीं लगाया। इसके बावजूद सरकार मुझे गायब सामान की सूची मुहैया कराए, मैं उसका भुगतान कर दूंगा, हालांकि सरकार का वह सामान लौटाना होगा जिसे मैंने वहां लगाया था।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद पिछली 2 जून को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपना सरकारी बंगला छोड़ दिया था। अखिलेश अब सुल्तानपुर रोड पर अंसल टाउनशिप में परिवार संग रहते हैं। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री और वयोवृद्ध कांग्रेसी नेता नारायणदत्त तिवारी ने अभी अपना बंगला खाली नहीं किया है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :