रेवाड़ी गैंगरेप के मुख्य आरोपी गिरफ्त से बाहर, मां ने लौटाया चेक, कहा- पैसा नहीं, इंसाफ चाहिए

Last Updated: रविवार, 16 सितम्बर 2018 (14:45 IST)
रेवाड़ी (हरियाणा)। रेवाड़ी में हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में अभी तक 3 मुख्य आरोपितों में से पुलिस किसी को पकड़ नहीं पाई है। इस बीच एसआईटी द्वारा एक व्यक्ति को कस्टडी में लेने की खबर सामने आ रही है। हरियाणा के रेवाड़ी जिले में छात्रा के साथ हुए के मामले में पुलिस ने एक सैन्यकर्मी सहित 3 आरोपियों की तस्वीरें जारी की हैं।

खबरों के अनुसार एसआईटी की टीम ने पीड़ि‍ता को सबसे पहले देखने वाले दीनदयाल उपाध्याय अस्‍पताल के डॉक्‍टर को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही रेवाड़ी की जिस जगह पर छात्रा के साथ बलात्‍कार किया गया था, उस ट्यूबवेल के मालिक को भी आपराधिक साजिश के मामले के तहत गिरफ्तार किया गया है।

पीड़िता की मां आरोपितों के अब तक नहीं पकड़े जाने से नाराज हैं। पीड़िता की मां ने सहायता राशि का 2 लाख रुपए का भी लौटा दिया है। शनिवार को नारनौल के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट विवेक यादव 2 लाख की अंतिरम राहत राशि का चेक लेकर पीड़िता की मां के पास पहुंचे थे।
चेक लौटाते हुए पीड़िता की मां ने कहा कि मुझे 2 लाख का चेक नहीं, बेटी के लिए इंसाफ चाहिए। मेरी बेटी की आबरू की कीमत लगाई जा रही है, वहीं उन्होंने बेटी को सही इलाज नहीं मिलने का भी आरोप लगाया।

पीड़िता की मां ने कहा कि डॉक्टर बेटी के डिप्रेशन में जाने की बात कहकर मुझसे मिलने नहीं दे रहे हैं। उन्होंने बेटी को एम्स या मेदांता मेडिसिटी में रेफर करने की भी मांग की। पीड़िता की मां ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए कि जब वो लोग महिला थाने में एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे थे तो पुलिस ने उन्हें धमकाया था और उनका शिकायती आवेदन फेंक दिया था।


और भी पढ़ें :