राहुल गांधी के जयपुर दौरे की 10 बातें जो बदल सकती हैं विधानसभा चुनाव 2018 के नतीजे...

Last Updated: शनिवार, 11 अगस्त 2018 (16:08 IST)
अध्यक्ष राहुल गांधी जयपुर से पार्टी के चुनाव अभियान का शंखनाद करेंगे। में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव होना है और इसे देखते हुए यह दौरा कांग्रेस के लिए खास माना जा रहा है। राजस्थान में कांग्रेस को सत्ता में लाने के राजस्थान की धरती पर पहुंचे हैं। राहुल गांधी के जयपुर दौरे की दस बातें, जो विधानसभा के नतीजों को बदल सकती हैं।
1. जयपुर परंपरागत रूप से सत्तारूढ़ भाजपा का गढ़ माना जाता है। अगर राहुल गांधी कांग्रेस की जमीन तैयार करने की कोशिश करेंगे, जो आने वाले परिणामों पर असर डालेगी।
2. राहुल गांधी पार्टी के कार्यकताओं को विधानसभा चुनाव में जीत दिलाने का संदेश देंगे और अगले तीन महीने में किस तरह की चुनाव रणनीति रखी जाए, यह भी बताएंगे।

3. राहुल गांधी जयपुर दौरे पर प्रदेशभर के पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। राहुल पार्टी पदाधिकारियों को एक मंच पर लाने की कोशिश करेंगे, जिसका फायदा कांग्रेस को आगामी विधानसभा चुनावों में मिले। राहुल के इस दौरे से गुटबाजी दूर करने में भी मदद मिलेगी।
4. राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे चालीस दिन की 'राजस्थान गौरव यात्रा' पर हैं। ऐसे में राहुल गांधी को जयपुर से कांग्रेस के लिए फिर जमीन तैयार करने का एक अच्छा मौका होगा।

5. कांग्रेस ने 'मेरा बूथ मेरा गौरव' कार्यक्रम के तहत प्रदेश के 200 विधानसभा क्षेत्रों में से 195 विधानसभा क्षेत्रों के बूथ स्तर तक अपनी पकड़ बनाई है, ऐसे में राहुल का यह दौरा कांग्रेस कार्यकताओं में मनोबल बढ़ाने का काम करेगा।
6. ऐसा कहा जाता है कि राज्य की वसुंधरा सरकार को लेकर लोगों में असंतोष भी है, जिसका फायदा कांग्रेस अध्यक्ष आगामी विधानसभा चुनाव में उठाना चाहेंगे।

7. राजस्थान भाजपा के अंदर भी असंतोष देखने को मिल रहा है। हाल ही में भाजपा के वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने पार्टी से अलग होकर एक नए दल का गठन किया है। राहुल भी भाजपा के नाराज नेताओं को साधने की कोशिश कर सकते हैं।

8. विधानसभा चुनावों में हाशिए पर चली गई कांग्रेस लगातार साढ़े चार साल तक वापस उठने प्रयास करती रही, लेकिन उसे मन के अनुरूप सफलता नहीं मिली। इसका बड़ा कारण पार्टी में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट कैंप्स में सही तालमेल नहीं होना रहा। राहुल का उदेश्य इन दोनों के गुटों में तालमेल बनाना होगा।
9. इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर गांधी आगामी दिनों में कई रैलियों को संबोधित करेंगे। इस दौरे से भावी चुनावी रणनीति तय करने में भी मदद मिलेगी।

10. जिन राज्यों में इस वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं, उनमें राजस्थान में कांग्रेस को सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं। राजस्थान की राजनीति का पिछला इतिहास भी बताता है कि यहां 5 साल में सत्ता बदल जाती है। पिछले परिणाम को देखते हुए राहुल गांधी राजस्थान में कांग्रेस को काबिज करने की कोशिश करेंगे।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :