नवरात्र 2017: पालकी में सवार होकर आई मां दुर्गा, होंगी बिदा हाथी पर



इस बार में मां दुर्गा का आगमन पालकी से हुआ है और यह सौभाग्य का प्रतीक है कि हाथी पर मां की विदाई होगी। यह अति शुभ है क्योंकि पालकी सुख का प्रतीक है और हाथी समृद्ध‍ि का। देवी पुराण में नवरात्र में भगवती के आगमन व प्रस्थान के लिए वार अनुसार वाहन बताए गए हैं।

देवी पुराण के अनुसार देवी का आगमन अगर रविवार व सोमवार को हो रहा है तो हाथी पर, शनिवार व मंगलवार को अश्व पर, गुरुवार व शुक्रवार को पालकी पर, बुधवार को नौका पर होता है।

शारदीय नवरात्र 21 सितंबर से शुरू हो गए हैं और 30 सितंबर को दशहरा है।

शारदीय में मां दुर्गा का गुरुवार को आगमन पालकी से हुआ है व गमन हाथी पर निश्चित है अत: इस बार माता का आगमन व गमन जनजीवन के लिए हर प्रकार की सिद्धि देने वाला है। ऐसा माना जाता है कि जब मां पालकी में सवार होकर आती हैं तो अपने साथ सुख लेकर आती हैं और समृद्धि देकर जाती हैं।

इसके अलावा पूरे नौ दिन कोई न कोई शुभ योग बना रहेगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :