शारदीय नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा करने जा रहे हैं तो अवश्‍य रखें इन 14 बातों का ध्यान

dugra ke 14 upay

धार्मिक पुराणों के अनुसार शारदीय नवरात्रि में मां भगवती दुर्गा की पूजा-आराधना विशेष फलदायी है। नवरात्रि ही एक ऐसा पर्व है जिसमें महाकाली, महालक्ष्मी और मां सरस्वती की साधना करके जीवन को सार्थक किया जा सकता है।

यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं मां दुर्गा की अपार कृपा प्राप्ति के लिए कुछ सरलतम उपाय, जो आप आसानी से कर सकते हैं।

- अपने घर के पूजा स्थान में भगवती दुर्गा, भगवती लक्ष्मी और मां सरस्वती के चित्रों की स्थापना करके उनको फूलों से सजाकर पूजन करें।

- नौ दिनों तक माता का व्रत रखें। अगर शक्ति न हो तो पहले, चौथे और आठवें दिन का उपवास अवश्य करें। मां भगवती की कृपा जरूर प्राप्त होगी।

- नौ दिनों तक घर में मां दुर्गा के नाम की ज्योत अवश्‍य जलाएं।

- अधिक से अधिक नवार्ण मंत्र-
'ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै' का जाप अवश्‍य करें।

- इन दिनों में दुर्गा सप्तशती का पाठ अवश्‍य करें।

- मां दुर्गा को तुलसी दल और दूर्वा चढ़ाना निषिद्ध है।

- पूजन में हमेशा लाल रंग के आसन का उपयोग करना उत्तम होता है। आसन लाल रंग का और ऊनी होना चाहिए।

- लाल रंग का आसन न होने पर कंबल का आसन इतनी मात्रा में बिछाकर उस पर लाल रंग का दूसरा कपड़ा डालकर उस पर बैठकर पूजन करना चाहिए।

- पूजा पूरी होने के पश्‍चात आसन को प्रणाम करके लपेटकर सुरक्षित जगह पर रख दीजिए।

- पूजा के समय लाल वस्त्र पहनना शुभ होता है। लाल कपड़ों से आपको एक विशेष ऊर्जा की प्राप्ति होती है।

- लाल रंग का तिलक भी जरूर लगाएं।

- मां को प्रात: काल के समय शहद मिला दूध अर्पित करें। पूजन के पास इसे ग्रहण करने से आत्मा व शरीर को बल प्राप्ति होती है। यह एक उत्तम उपाय है।

-
आखिरी दिन घर में रखीं पुस्तकें, वाद्य यंत्रों, कलम आदि की पूजा अवश्य करें।

- अष्‍टमी व नवमी के दिन कन्या पूजन करके उन्हें अपनी श्रद्धानुसार कुछ न कुछ भेंट अवश्‍य दें।

इस तरह पूजन के नियमों का पालन करके नौ दुर्गा को प्रसन्न करके उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :