जुलाई से देशभर में एक जैसा लाइसेंस, आधार की तरह होगा यूनिक आईडी नंबर

पुनः संशोधित शनिवार, 10 नवंबर 2018 (08:45 IST)
सरकार जल्द ही एक नई सुविधा देने जा रही है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने जुलाई 2019 से एक देश-एक थीम वाले लाइसेंस के लिए ड्राफ्ट अधिसूचना जारी कर दी है।
इस कार्ड में चालक की सूचनाएं सामने की तरफ पीछे और चिप में भी सेव होंगी। इसमें ब्लड ग्रुप, अंगदाता है या नहीं और लाइसेंस वैधता की सूचना लाइसेंस के सामने वाले हिस्से में ही प्रिंट होगी।

मौजूदा फार्मेट से पहचान मुश्किल : मौजूदा फॉर्मेट में लाइसेंस पर इश्यू करने वाले राज्य के विभाग का नाम लिखा होता है। इस कारण से किसी दूसरे देश या प्रदेश में चालक की पहचान मुश्किल होती है। हालांकि विदेशों में वाहन चलाने के लिए इंटरनेशनल लाइसेंस बनवाना पड़ेगा।
चिप में होगा यूनिक नंबर :
ड्राइविंग लाइसेंस के पिछले हिस्से में चिप लगी होगी जिसका एक यूनिक नंबर होगा। हर कार्ड का भी एक यूनिक नंबर होगा। चालक की विशेष तरह के वाहन चलाने की योग्यता (खतरनाक वाहन या पहाड़ी क्षेत्र में) है तो वह भी लाइसेंस पर अंकित होगी। क्यूआर कोड भी इसी हिस्से में होगा जिसे ट्रैफिक पुलिस या एनफोर्समेंट एजेंसी स्कैन करके चालक की सभी सूचनाएं जान जाएंगी।

नियम तोड़ने पर होगी कार्रवाई : यात्री वाहन चलाने के लिए बैज लिया हुआ है तो वह भी लाइसेंस में ही लिखा होगा। आपात स्थिति में संपर्क नंबर भी लाइसेंस पर होगा। चूंकि सभी जानकारियां कार्ड में सेव होंगी और अथॉरिटी इसे समय-समय पर स्कैन कर सकेंगी ऐसे में बार-बार नियम तोड़ने वाले आसानी से पकड़े जाएंगे।


और भी पढ़ें :