बाजार से गायब हुए दो हजार के नोट, शिवराज ने बताया साजिश

money
शाजापुर| Last Updated: मंगलवार, 17 अप्रैल 2018 (11:16 IST)
शाजापुर। नोटबंदी के बाद एक बार फिर देशवासियों को नकदी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। 2000 के नोटों की कमी से भरने में बैंकों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस बीच मध्यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री ने बाजार से गायब होने का दोष भी कांग्रेस के सिर मढ़ दिया है।

शिवराज ने किसान महासम्मेलन में कहा कि जब (नवंबर 2016 में) नोटबंदी हुई थी तब 15 लाख करोड़ रुपए के नोट बाजार में थे और आज साढ़े 16 लाख करोड़ के नोट छापकर बाजार में भेजे गए हैं। लेकिन 2-2 हजार के नोट कहां जा रहे हैं, कौन दबाकर रख रहा है, कौन नकदी की कमी पैदा कर रहा है। यह षड्यंत्र है।'

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यह षड्यंत्र इसलिए किया जा रहा है, ताकि दिक्कतें पैदा हो। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में नगदी की कमी पैदा की जा रही है, इससे राज्य सरकार निपटेगी। प्रदेश सरकार इस पर सख्ती से कार्रवाई करेगी। इस संबंध में हम केंद्र से भी बात कर रहे हैं।


और भी पढ़ें :