बोहरा समाज से खुश हैं नरेंद्र मोदी, जानिए किन बातों ने उन पर छोड़ा गहरा प्रभाव

इंदौर| नृपेंद्र गुप्ता| Last Updated: शुक्रवार, 14 सितम्बर 2018 (16:59 IST)
इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंदौर की सैफी मस्जिद में दाउदी के लोगों जमकर तारीफ की। जानिए बोहरा समाज की ‍किन योजनाओं और कार्य शैली से प्रभावित हैं मोदी...

स्वच्छता और पर्यावरण की पवित्रता : स्वच्छता और पर्यावरण की पवित्रता सुनिश्चित करने के आपके प्रयासों से भी देश भली-भांति परिचित है। तो खुद स्वच्छता और पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति आग्रही है। बड़े सैयदना साहब की जन्म शताब्दी समारोह में हमने चिड़िया बचाने के लिए आंदोलन खड़ा कर दिया था। हर एक को बॉक्स दिया गया जिसमें घोंसला बनाया जाए। यह पर्यावरण की रक्षा नहीं तो क्या है। यह हमारे संस्कार हैं। सैयदना साहब ने मन की पवित्रता को वातावरण की स्वच्छता और शुद्धता से जोड़ दिया। अभी भी उन्होंने कहा कि स्वच्छता दिल और मन की भी करनी है।

जीरो वेस्ट का प्रण : मोदी ने कहा कि इंदौर की प्रतिष्ठा को ध्यान में रखते हुए अशरा मुबारक के इस आयोजन को पर्यावरण और स्वच्छता के संदेश से जोड़ा गया है। यहां प्लास्टिक बैग पूरी तरह प्रतिबंधित किए गए हैं। इस पूरे आयोजन को जीरो वेस्ट यानी कचरे से रहित बनाने का प्रण लिया गया है। यहां रोजाना करीब 10 टन कचरे को फर्टिलाइजर में बदला जा रहा है और फिर इसे किसानों को मुफ्त में बांटा जा रहा है। वेस्ट टू एनर्जी के सरकार के मिशन को भी इससे बल मिल रहा है।

नियम और कायदे पर चलकर आर्दश स्थापित किया : प्रधानमंत्री ने बोहरा समाज के लोगों की सराहना करते हुए कहा कि आप में अधिकतर लोग व्यापार और कारोबार से जुड़े हो। नियम और कायदों में रहकर कैसे काम किया जाता है, अनुशासन में रहकर कारोबार को आगे कैसे बढ़ाया जाता है। इस मामले में आपने आदर्श स्थापित किया है। अभी सैयदना साहब ने भी यही सीख दी। दाऊदी बोहरा समाज ने इन मूल्यों से उसने अपनी नई पहचान बनाई है।

प्रोजेक्ट राइस : उन्होंने कहा कि इस समय पूरे देश में पोषण माह मनाया जा रहा है। शिशु और माता को सुरक्षित करने का अभियान चल रहा है। प्रोजेक्ट राइस के माध्यम से आप भी महाराष्‍ट्र समेत दूसरे हिस्सों में
यह अभियान चला रहे हैं। आपका यह प्रयास देश के भविष्य को स्वस्थ और सशक्त बनाने में मदद करेगा।

कम्यूनिटी किचन : मोदी ने कहा कि पोषण और स्वास्थ्य को लेकर दाउदी बोहरा समाज शुरू से जागरुक रहा है। कम्यूनिटी किचन
के माध्यम से आप यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि समाज का कोई व्यक्ति भूखा न सोए।

गरीब और मध्यमवर्ग के लिए अस्पताल : मोदी ने कहा- देश के गरीब और मध्यमवर्ग के लिए आप दर्जनों अस्पताल चला रहे हैं। आपकी यह सोच देश और समाज को शक्ति देती रही है और यह देश को और मजबूत करेगी। उन्होंने देश में स्वास्थ्य को सरकार ने पहली बार इतनी प्राथमिकता दी है। अफोर्डेबल हेल्थकेअर, प्रिवेंटिव हेल्थकेअर को बढ़ावा दिया जा रहा है। क्वालिटी अस्पतालों, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों का जाल बिछाया जा रहा है। जनऔषधि केंद्र पर सस्ती दवाएं, मुफ्त डायलिसिस, हार्ट और घुटनों के ऑपरेशन में लगने वाले सामानों में भारी कटौती की गई है। आयुष्मान भारत देश के 50 करोड़ भारतीयों के लिए संजवनी बना।

गरीबों के लिए घर : पीएम ने कहा कि गरीबों के लिए घर देने का जो बीड़ा आपने उठाया वह भी सराहनीय है। 11 हजार लोगों को आपके प्रयासों से अपना घर मिल चुका है। सरकार ने भी 2022 तक देश के हर गरीब को अपना घर देने का लक्ष्य रखा है। एक करोड़ भाई-बहनों को उनके घर की चाबी दी जा चुकी है। तेज गति से काम चल रहा है।

शिक्षा और स्किल डेवलपमेंट : प्रधानमंत्री ने बताया कि शिक्षा और स्किल डेवल्पमेंट के क्षेत्र में भी आपका सहयोग सरकार के प्रयासों को और ताकत देता है। समाज की शक्ति और सरकार की शक्ति मिलती है तो परिणाम कई गुना ज्यादा आता है। फोटो : धर्मेंद्र सांगले

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :