विजयादशमी पर क्या बोले संघ प्रमुख मोहन भागवत...

Last Updated: शनिवार, 30 सितम्बर 2017 (10:04 IST)
संघ प्रमुख ने शनिवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के 92वें स्थापना दिवस पर देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने विजयादशमी पर दिए अपने संबोधन में कहा...
* रोहिंग्या मुसलमानों पर सरकार का रुख ठीक।
* रोहिंग्या मुसलमानों के आतंकियों से संबंध।
* रोहिंग्या को भारत में नहीं रख सकते।
* रोहिग्या को शरण देने से देश में सुरक्षा का संकट होगा।
* बांग्लादेश सीमा पर गो तस्करी होती है।
* केरल और बंगाल के हालात भी किसी से छिपे नहीं।
* पश्चिम बंगाल और केरल में जेहादी ताकतें मजबूत हो रही हैं।

* राज्य सरकारें इन्हें रोक नहीं रही हैं।
* कभी-कभी लगता है कि पश्चिम बंगाल सरकार राष्ट्रविरोधी ताकतों के साथ।
* हालात बदलने के लिए कानून बदलना पड़े तो बदल देना चाहिए।
* कश्मीर समस्या का जल्द समाधान हो सकता है।
* जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग।
* कश्मीर में पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।
* पाकिस्तान की वजह से जम्मू-कश्मीर के लोग परेशान।
* भारतीय होने के बाद भी कई लोगों को देश में ही उनका हक नहीं मिला।
* कश्मीर में शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति ठीक नहीं।
* कश्मीरी पंडित अपने ही देश में विस्थापित हुए।
* पाकिस्तान से कई लोग अवैध तरीके से यहां आए।
* कश्मीर में देश विरोधी ताकतों की आर्थिक कमर टूटी।
* कश्मीर में सेना और पुलिस को पूरी छूट।
* सीमा पर हम दुश्मनों को जवाब दे रहे हैं।
* राष्‍ट्र प्रगति करता है तो दुनिया उससे जुड़ती है।
* 70 साल में पहली बार दुनिया को लग रहा है कि भारत कुछ कर रहा है।
* राष्ट्र को कोई बना या बिगाड़ नहीं सकता।
* राष्‍ट्रीय दृष्‍टि का प्रचार नहीं करना, राष्‍ट्रीय जीवन खड़ा करना है।
* संकटों से आगे बढ़कर चलना जिंदगी।
* मरने वालों के परिजनों के साथ संवेदना।
* मुंबई में कल हुए हादसे से दुखी।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :