मणिपुर में हर विधानसभा सीट में 1 लाख से कम मतदाता

नई दिल्ली| Last Updated: शुक्रवार, 13 जनवरी 2017 (21:57 IST)
नई दिल्ली। विधानसभा की कुल 60 सीटों में से हर निर्वाचन क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 1 लाख से कम है। मणिपुर विधानसभा के लिए 2 चरणों में मतदान 4 और 8 मार्च को होगा जबकि चुनाव परिणाम 11 मार्च को घोषित होंगे। 
 
चुनाव आयोग की ओर से शुक्रवार को यहां दी गई जानकारी के अनुसार राज्य में सबसे कम 17,749 मतदाता तिपाईमुख निर्वाचन क्षेत्र में हैं जबकि सबसे ज्यादा 53,557 माओ (सुरक्षित) क्षेत्र में हैं। कुल 18 लाख 93 हजार 743 मतदाताओं में से 9 लाख 68 हजार 312 महिला मतदाता हैं तथा 11,915 सशस्त्र बल हैं। 
 
मतदाताओं में से एक भी उभयलिंगी नहीं हैं। सबसे ज्यादा 7 लाख 32 हजार 780 मतदाता 25-40 आयु वर्ग के हैं। इस आयु वर्ग में 3 लाख 78 हजार 232 महिलाएं हैं।
 
सबसे छोटी सीटें कैसामथोंग और सिंगजामेई हैं और इनका आकार 2 वर्ग किलोमीटर है जबकि फुंगयार (सुरक्षित) और सबसे बड़ी सीट है और इसका क्षेत्रफल 23.8 वर्ग किलोमीटर है। राज्य की सिर्फ 2 ही पार्टियां मान्यता प्राप्त हैं और उनके नाम हैं- नागा पीपुल्स फ्रंट और पीपुल्स डेमोक्रेटिक अलायंस।
 
कुल 18 लाख से भी ज्यादा मतदाताओं में से 17 लाख 72 हजार 279 को फोटोयुक्त पहचान पत्र दिया जा चुका है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :