सावधान! आईएसआईएस ने भारतीय हैकर्स को दिया यह बड़ा ऑफर

पुनः संशोधित बुधवार, 27 जनवरी 2016 (07:33 IST)
आतंकवादी संगठन ने अब भारत में संवेदनशील सरकारी डाटा चुराने के लिए भारतीय हैकरों को लुभावना ऑफर दिया है। इसके लिए आतंकी संगठन ने काफी आकर्षक सैलरी की भी पेशकश की है। प्रत्येक 'जॉब' के लिए एक हैकर को 10,000 डॉलर से ज्यादा मिल सकते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि हैकिंग समुदाय के लिए अब तक का यह सबसे आकर्षक ऑफर है।
 
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक इसके अलावा हैकर्स से यह कहा गया है कि वे सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों ट्विटर और फेसबुक से ऐसे लोगों की पहचान करें और उनका डाटा बेस तैयार करें जो आतंकी संगठन के संभावित सदस्य बन सकते हों।
 
कई सुरक्षा एजेंसियों के साथ काम करने वाले साइबर क्राइम के विशेषज्ञ किसलय चौधरी ने बताया, 'ऑनलाइन कई अंडरग्राउंड समुदाय हैं जिनसे हैकर्स नियमित रूप से संपर्क करते हैं। जांच में हमने पाया है कि पिछले छह महीने में सरकारी डाटा चुराने की पेशकश वाले आकर्षक ऑफरों की संख्या तेजी से बढ़ी है और इसके लिए हैकर्स को बड़ी राशि की पेशकश की गई है।'
 
विशेषज्ञों का मानना है कि कई हैकर्स ने पहले ही इस ऑफर को चुन लिया है जबकि आतंकी संगठन ने भारत में करीब 30,000 लोगों से कथित रूप से संपर्क किया है।
 
किसलय के मुताबिक, 'इस तरह की पेशकश पहले कभी नहीं की गई है। हमने पाया है कि देश में आईएसआईएस की पहुंच बढ़ाने के लिए ये पेशकश किए जा रहे हैं।' किसलय का कहना है कि भारत के प्रति अपनी रणनीति बनाने के लिए आईएसआईएस सरकारी आंकड़ों का इस्तेमाल करना चाहता है।
 
गौरतलब है कि आईएसआईएस अपनी कट्टर विचारधारा को फैलाने और युवाओं का ब्रेनवाश करने के लिए सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों फेसबुक और ट्विटर का इस्तेमाल करता है।
 
सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि आईएसआईएस की इस चुनौती से निपटने के लिए उन्होंने कदम उठाए हैं और आतंकी संगठन से संबंधित वेब कंटेंट पर रोक लगाई है। महाराष्ट्र एटीएस का कहना है कि उसने आईएसआईएस से जुड़ी करीब 94 वेबसाइटों को बंद किया है। (एजेंसी)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :