सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय सेना ने किया था पेशाब और मल का प्रयोग, कारण जानकर चौंक जाएंगे

Last Updated: बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (15:01 IST)
नई दिल्ली। उड़ी हमले के बाद पिछले साल भारतीय सेना ने सीमा पार कर में की थी, यह तो सभी जानते हैं। इससे जुड़ी कहानियां भी समय-समय पर बाहर आई हैं, लेकिन एक बात और सामने आई है, जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

दरअसल, सेना ने अपने इस अहम अभियान में तेंदुए के पेशाब और मल का भी उपयोग किया था। इस संबंध में लेफ्टिनेंट जनरल आरआर निंभोरकर ने बताया कि सर्जिकल स्ट्राइक के लिए गए जांबाजों ने इस दौरान तेंदुए के पेशाब और मल का उपयोग किया था।
एएनआई के ट्‍वीट के मुताबिक उन्होंने बताया कि कुत्ते तेंदुए से डरते हैं। अत: सैनिकों ने इन चीजों का इस्तेमाल किया ताकि गांव के कुत्ते न भौंकें और पाकिस्तान की सेना चौकन्नी न हो जाए।

जवानों ने तेंदुओं के पेशाब और मल को अपने साथ रख लिया और गांवों के रास्ते पर छिड़क दिया। यह तरकीब काम कर गई। तेंदुए की गंध पाकर कुत्ते डर के मारे भौंके नहीं और जवानों ने आसानी से यह गांव पार कर लिया।

निंभोरकर ने सर्जिकल स्ट्राइक के संबंध में अपने जवानों से बात की थी लेकिन यह कहां होनी है इसका पता जवानों को ऑपरेशन शुरू होने के एक दिन पहले ही चला। सर्जिकल स्ट्राइक में जवानों ने आतंकियों के तीन लांचिंग पेड नष्ट कर दिए थे, साथ ही 29 आतंकियों को ढेर कर दिया था।



और भी पढ़ें :