कैजुअल एनाउंसर का जंतर-मंतर पर आंदोलन जारी

नई दिल्ली| पुनः संशोधित सोमवार, 8 अगस्त 2016 (18:11 IST)
नई दिल्ली। आकाशवाणी के का जंतर-मंतर पर धरना, प्रदर्शन और क्रमिक भूख हड़ताल का रविवार को 7वां दिन था। 
सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास अठावले से भी न्याय पाने के लिए विनम्र निवेदन किया गया। सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास अठावले ने न्यायपूर्ण इंसाफ दिलवाने का वादा किया है वहीं हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और फिलहाल कांगड़ा से बीजेपी सांसद शांता कुमार भी आकाशवाणी के कैजुअल एनाउंसर से अपने कार्यालय में मिले और हरसंभव सार्थक मदद करने का भरोसा दिलाया। 
 
मुख्तार अब्बास नकवी भी अपने आवास पर कैजुअल एनाउंसर से मिले और भेदभाव बिना एनाउंसर के अधिकारों का समर्थन किया तथा भरोसा दिलाया कि वे इस विषय पर माननीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू से सार्थक बात करेंगे।
 
शिवसेना की तरफ से इनके 21 सांसदों के समर्थन का भी बल मिला है। जाहिर-सी बात है कि धीरे-धीरे आकाशवाणी महानिदेशालय और प्रसार भारती का भेदभावपूर्ण रवैया सामने आने लगा है और यही कारण है कि शिवसेना से लेकर सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी के सांसदों और मंत्रियों द्वारा इस आंदोलन को समर्थन मिल रहा है।
 
शिवसेना के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष नीरज सेठी, उपाध्यक्ष अशोक कुमार कपिल, संगठन मंत्री कुलदीप सिंह संधू, सचिव सुमीत जैन और अर्चना गुप्ता जंतर-मंतर पर हमारे बीच आए और बिना शर्त समर्थन देने का वादा किया।
 
क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठने वालों में आकाशवाणी शिमला के कुलदीप, वाराणसी से अंजू तिवारी, सुरेखा सिंह, भारती श्रीवास्तव, रंजना, ज्योति स्वरूप और योगेश हैं। कैजुअल उद्घोषकों का हौसला बढ़ाने के लिए सेना के सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर डॉ. आलोक भी मंच पर आए।


और भी पढ़ें :