0

चेहरे को सुंदर बनाए रखने के लिए बनाएं ये मुद्राएं

गुरुवार,मार्च 7, 2019
0
1
संस्कृत शब्द त्रि अर्थात तीन और कोण अर्थात कोने या कार्नर। इस आसन को करने से व्यक्ति की आकृति त्रिकोण या त्रिभुज समान ...
1
2
योग के अंग संचालन को सूक्ष्म व्यायाम भी कहा जाता है। आजकल इसे योगा एक्सरसाइज कहते हैं। इसे आसनों की शुरुआत के पूर्व ...
2
3
भागदौड़ भरी जीवन शैली के चलते मनुष्य ने प्रकृति और स्वयं का सान्निध्य खो दिया है। इसी वजह से जीवन में कई तरह के रोग और ...
3
4
यदि आप कोई बात या चीजें भूल जाते हैं। कई बार पढ़ने के बाद भी कोई पाठ याद नहीं होता है तो योग की यह भूचरी या भोचरी ...
4
4
5
नभ का अर्थ होता है 'आकाश'। इस मुद्रा में जीभ को तालु की ओर लगाते हैं, इसीलिए इसे नभोमुद्रा कहते हैं। नभोमुद्रा करना सरल ...
5
6
योग अनुसार आसन और प्राणायाम की स्थिति को मुद्रा कहा जाता है। बंध, क्रिया और मुद्रा में आसन और प्राणायाम दोनों का ही ...
6
7
विचारों को रोके नहीं, उन्हें आने दें। धीरे-धीरे आपका मन अपने आप शांत हो जाएगा। मन की इस अवस्था को ही ध्यान कहते हैं।
7
8
'योग' भारत में एक आध्यात्मिक प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है। यह ...
8
8
9
हर कोई चाहता है कि जब तक वह जीवित रहे, स्वस्थ ही रहे। स्वस्थ रहते हुए ही अपने बच्चों को बड़ा होते देखे व अपने नाती-पोतों ...
9
10
21 जून की तारीख पूरे विशव में 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' के नाम से दर्ज हो गई है। योग हमेशा से भारत की प्राचीन परंपरा का ...
10
11
योग यानी जुड़ना और जुड़ना जिससे भी सच्चे मन से हो जाए, उससे ही योग लग जाता है। जब किसी को किसी से योग लगता है तब यह सहज ...
11
12
इस बार 21 जून को 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' देहरादून में एक बार फिर बड़े स्तर पर आयोजित किया जा रहा है। ये चौथा योग दिवस ...
12
13
योग से कोई भी व्यक्ति जीवन को निरोगी, सुखद और सुंदर बना सकता है। योग सिर्फ आसन नहीं है। योग में यम, नियम, आसन, ...
13
14
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। इस साल पूरे विश्व में चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। ...
14
15
आज पूरा विश्व भारत की तरफ टकटकी लगाए देख रहा है और भारत के सामने योग का एक बहुत बड़ा बाजार है। दरअसल पीएम मोदी ने 27 ...
15
16
योग का वर्णन वेदों में, फिर उपनिषदों में और फिर गीता में मिलता है, लेकिन पतंजलि और गुरु गोरखनाथ ने योग के बिखरे हुए ...
16
17
हमारा शरीर ब्रह्मांड की एक ईकाई है। जैसा ऊपर, वैसा नीचे। जैसा बाहर, वैसा भीतर। संपूर्ण ब्रह्मांड को समझने के बजाय यदि ...
17
18

पूरे मनोयोग से कीजिए योग

गुरुवार,फ़रवरी 22, 2018
योग जीवन जीने की एक पद्धति है। स्वस्थ रहने के लिए योग नियमित किया जाना चाहिए। अक्सर लोग आधे अधूरे मन से योग की ओर ...
18
19
विपश्यना ध्यान हमारे मन के विकारों को कम करता है या उन्हें जड़ से निकाल देता है। मन के विकार जैसे क्रोध, घृणा, डर, ...
19