मुख पृष्ठ » विविध » वेबदुनिया विशेष 10 » महात्मा गाँधी (Mahatma Gandhi)
महात्मा गाँधी
बापू, अब हम परिपक्व हो रहे हैं। अब हमें अपने जीवन की प्राथमिकताएँ तय करना आ गई है। हमें अपने देश की सुरक्षा और व्यवस्था...
  आगे पढें...
गाँधी जयंती2010
 
भारत की आजादी के संघर्ष के दौरान अहिंसात्मक आंदोलन का...
गाँधी जयंती2010
 
गाँधी न शांतिवादी थे, न ही समाजवादी और न राजनीतिक...
महात्मा गाँधी
गाँधीगिरी, गाँधीवाद नहीं है
गाँधी, गाँधीवाद और गाँधीगिरी तीनों जुदा-जुदा हैं, लेकिन तीनों का संबंध एक ऐसे शख्स के साथ है, जो सारी दुनिया में एक ही है-
महात्मा गाँधी
संत का अंत नहीं होता है
संत का अंत नहीं होता बल्कि संत देहमुक्त होकर अनंत हो जाता है। आज आदमी, आदमी के बीच नफरत, जाति-जाति के बीच...