दूसरों के लिए आनंद की सीढ़ी बनाओ

स्वामी विवेकानंद बड़े तर्क निष्ठ व्यक्ति थे। उनको कालू की पूजा का ढंग बिल्कुल नहीं जंचता, वे हमेशा उससे कहा करते यह क्या पागलपन कर रहा है? ...

Widgets Magazine

डिजिटल इंडिया से आपके दस्तावेज खतरे में!

इस योजना में कई तरह की खामियां हैं जिसमें सरकार तो आपके लॉकर की सुरक्षा की बात तो कर रही ...

मेरा ब्लॉग : हैप्पी बर्थ डे मनु .....

अगले 2-3 दिनों तक घर कैसा भरा-भरा सा लगता। रिबिन्स और झालरों से सजी दीवारें, कोनों से ...

गीत : सब्र की भी एक सीमा है

आपके घर के तमस का सूर्य है दोषी नहीं, कूप का दादुर कहाता आत्म-संतोषी नहीं जब खड़ी दीवार ...

जीवन में मधुमास हैं बेटियां

सारे संसार में भगवान की सबसे अच्छी कृति हैं बेटियां, बाप का मान सम्मान और ईश्वर का वरदान ...

हथेलियां...

हथेलियां,कुछ नर्म-सी, नमी सी लिए हुए, कुछ सपाट-सी, दरारें समेटे हुए। अनंत संभावनाओं काहाल ...

क्यों दिल मांगे कुछ और....

बादलों की आहट को सुनकर, सावन में नाच उठता है मोर, सुंदर पंखों को भूल, पैर देखकर, कैसे हो ...

और खुद से भी ...

अपने सुख का अपने सुख से, सुख संवाद सुन रही हूं, दरकते शीशे के टुकड़ों में, उधड़ता अक्स ...

सोशल मीडिया के सुपरस्टार

सोशल मीडिया अब लोकप्रियता मापने का भी बैरोमीटर है। इसके अपने सुपरस्टार हैं। जरूरी नहीं कि ...

हिन्दी कविता : कबीर तुम कहां हो?

कबीर तुम कहां हो? आज इस युग को तुम्हारी ज़रूरत है, भटके हुओं को तुम्हारी वाणी की ...

मालवी कविता : मोटर गाड़ी ने रीसाणी लाडी

आखा गांव होण में अइग्यो मुबाइल फोन लोग होण सबकी खबर लेवा मंड्या केवे - हलो कोण? वई ...

हिन्दी कविता : मैं क्या लिखूं

मैं श्रृंगार लिखूं और प्यार लिखूं, और कोई मान मनुहार लिखूं। और बरखा भरे इक बादल ...

हिन्दी कविता : मैं सेना का जवान हूं

माना की घर से दूर हूं, यूं ना समझो कि मैं मजबूर हूं। तीर्थान्कर काशी गंगा सा पावन ...

कारगिल के शहीद पर मार्मिक काव्य रचना

टाइगर हिल पर तिरंगा लहराया, शोणित से उसकी शोभा निखर रही। पड़ी मन्द मेरे हृदय की ...

प्रधानमंत्री मोदी को समर्पित काव्य रचना

सपने दिए मैंने आंखों को, फिर भी कहते हो झूठा है। साठ बरस की दीमक शाही का कहर ही तो ...

कल रात भर 'कबीर-कबीर' रहीं...

विक्रम संवत 1456 या कहें कि सन् 1398 में जन्मा था वह फकीर। स्वभाव से अक्खड़, तबियत से ...

प्रेरणास्पद हिन्दी कविता : एक उम्मीद आपसे

गुनगनाते रहिए, मुस्कुराते रहिए। जो दूसरों के दर्द को दूर कर सके गीत ऐसे कुछ गाते रहिए। ...

इंटरनेशनल जोक्स डे- हंसिए और हंसाइए

पूरी दुनिया भले ही अलग-अलग धर्म और संस्कृति में बंटती हो, लेकिन एक बात दुनियाभर के हर ...

इच्छामृत्यु की अंतर्व्यथा पर कविता

नहीं चाहिए प्रभु मुझे, इच्छित मृत्यु का वरदान। मैं और नहीं सह सकता तुम्हारा ये अभिमान। ...

Widgets Magazine

Widgets Magazine

नवीनतम

फनी कविता : मौत निठल्ली खड़ी-खड़ी

मौत निठल्ली खड़ी-खड़ी, हमको खूब समझाती है। क्या जाएगा साथ तुम्हारे, कर्मों की कथा सुनाती है।। ...

जहरीली है आइसक्रीम भी.... जरूर पढ़ें

अब तो यह सवाल विकराल हो चला है कि क्या खाएं और क्या न खाएं... जो बिस्किट, टॉफी या आइसक्रीम हम खा ...

जरुर पढ़ें

वज्रासन से शरीर बनेगा सुडौल, देखें वीडियो

वज्र का अर्थ होता है कठोर और दूसरा यह कि इंद्र के एक शस्त्र का नाम वज्र था। इससे पैरों की जांघें ...

जब ऑडियो कैसेट में धड़कते थे दिल...

इंटरनेट के दौर में कई पुरानी तकनीक बाज़ार से बाहर हो गई, उनके स्थान पर नई तकनीक तो आ गई लेकिन कुछ ...

हिन्दी कविता : एक सवाल?

सांस लेना, प्रार्थना करना। बोलना, खाना-पीना। उठना-बैठना, हंसना-रोना, नाचना-गाना

Widgets Magazine