निबंध | बाल दिवस | चिट्ठी-पत्री | कहानी | क्या तुम जानते हो? | हँसगुल्ले | प्रेरक व्यक्तित्व | कविता | अजब-गजब | टीचर्स डे | अकबर बीरबल के किस्से | सिंहासन बत्तीसी
मुख पृष्ठ » लाइफ स्‍टाइल » नन्ही दुनिया (Kids World)

तात्या टोपे : मातृभूमि के लिए न्यौछावर किए प्राण

तात्या टोपे
सन्‌ 1857 की क्रांति के वीर अमर शहीद तात्या टोपे को शिवपुरी नगर में 18 अप्रैल 1859 को फांसी की सजा सुनाई गई थी। इसी दिन वे फांसी का फंदा अपने गले में डालते हुए मातृभूमि के लिए न्यौछावर हो गए थे।
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
  • 6
  • 7
  • 8
  • 9
  • 10
  • 11
  • 12
  • 13
  • 14
  • 15
 
घोंचूजी- मुझे संस्कृत सिखा दो...! पंडित- क्यों??? घोंचूजी- देवताओं...
 
अदम्य साहस और युद्धकौशल के लिए मशहूर फील्ड मार्शल मानेकशॉ..