पूर्व सांसद और कवि बालकवि बैरागी का निधन

Last Updated: रविवार, 13 मई 2018 (23:05 IST)
नीमच (मध्यप्रदेश)। जाने-माने कवि एवं लेखक तथा बालकवि बैरागी का उनके गृह नगर मनासा में आज शाम निधन हो गया। वे 87 वर्ष के थे। उनके पुत्र गोरकी ने बताया कि दोपहर में एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वे घर लौटे।

इसके बाद वे आराम करने के लिए अपने कमरे में चले गए। उन्होंने बताया कि नींद में ही उनका निधन हो गया। उन्होंने बताया कि वे वर्ष 1980 से 1984 तक मध्यप्रदेश के मंत्री रहे और वर्ष 1984 से 1989 तक लोकसभा के सदस्य रहे। वे बाद में राज्यसभा के सदस्य भी रहे।

उन्होंने बताया कि बैरागी ने बॉलीवुड फिल्मों के लिए 25 से अधिक गीत लिखे, जिनमें से ‘तू चंदा मैं चांदनी, तू तरुवर मैं शाख रे’ शामिल है। उन्होंने कई हिन्दी कविताएं भी लिखीं, जिनमें से ‘झर गये पात बिसर गये टहनी’ प्रसिद्ध है। बैरागी नीमच जिले के मनासा इलाके में रहते थे। उनका जन्म मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले की मनासा तहसील के रामपुरा गांव में 10 फरवरी 1931 को हुआ था। उनके जन्म का नाम नंदराम दास बैरागी था।
(भाषा)


और भी पढ़ें :