जीवन का दर्पण है हथेली का रंग, जानिए क्या कहता है...

Palm-Reading
हथेली के रंग जातक के जीवन का एक है। के अनुसार किसी का भी हाथ देखते समय जातक की हथेली के रंग को भी ध्यानपूर्वक देखना चाहिए।

मात्र हथेली को थोड़ा स्पर्श कर दबाने से रंग परिवर्तन होता है और यही रंग परिवर्तन जातक के स्वाभाविक जीवन के मूल्यों को आंकने का एक तरीका को मिलता है। आइए जानें क्या कहता हैं अापकी हथेली का रंग...

1. सफेद रंग रक्त की कमी से भी हो सकता है। स्वच्छ सफेद रंग आध्यात्मिक शक्ति का प्रतीक भी कहा जा सकता है।

2. हथेली में लाल रंग वाले क्रोधी स्वभाव, अदूरदर्शिता, विवेकहीन, अविश्वासी व सनकी होते हैं। हथेली में पसीना व मटमैलापन भी इन्हीं बातों को दर्शाता है।

3. नीले रंग की हथेली रक्त विकार, रोगी जीवन के प्रति उदासीनता का प्रतीक है।

4. हथेली पीले रंग लिए हुए हो तो जातक में रक्त की कमी, किसी न किसी रोग से पीड़ित, मंदबुद्धि, कर्महीन, अस्वस्थ अर्थात जीवन में असफलताओं का सामना करते रहना।
5.
गुलाबी हो तो जातक स्वस्थ, प्रेम, दया, करुणा का सागर, सहृदय, शालीन, परिश्रमी, भावुक, उन्नतिशील, उच्च आदर्श विचार वाला, जीवन जीने की कला का गुणी अर्थात सभी मानवीय गुणों का पारखी धनी होगा।

6. हथेली में काले एवं धब्बेदार रंग वाला जातक दुष्प्रवृत्ति का होगा अर्थात जीवन असफलताओं से भरा हुआ होगा।


और भी पढ़ें :