ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष विश्लेषण


* कौन से योग बनाते हैं जातक को व्यभिचारी, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...

वर्तमान समय में देश में की घटनाओं में वृद्धि हुई है। काम-क्रोध आदि षड्विकार सभी मनुष्यों में पाए जाते हैं। 'काम' (सेक्स) को जीवन का अभिन्न अंग माना गया है। 'काम' सृष्टि परिचालन का आधार है। किंतु जब व्यक्ति के जीवन में 'काम' (सेक्स) असंयमित व अनियंत्रित होकर अपनी सीमाओं का उल्लंघन कर जाता है तब यह समाज में व्यभिचार का कारण बनता है।

व्यक्ति के चारित्रिक पतन के लिए देश-काल-परिस्थिति, समाज व शिक्षा व्यवस्था सभी कारक हो सकते हैं किंतु भी व्यक्ति के चारित्रिक पतन के अहम कारक होते हैं। जन्म पत्रिका में कुछ विशेष ग्रह योगों के सृजन से जातक चारित्रिक रूप से पतित होकर व्यभिचारी तक बन जाता है।

ऐसा जातक अपनी वासनापूर्ति के लिए सामाजिक मर्यादाओं व सीमाओं को लांघने में तनिक भी संकोच नहीं करता। यदि इस प्रकार के ग्रहयोग जन्म पत्रिका में हों, तो व्यक्ति को अत्यंत सावधान रहना चाहिए।

आइए जानते हैं वे कौन से ग्रहयोग होते हैं, जो व्यक्ति के चारित्रिक पतन का कारण बनते हैं-

में को भोग-विलास का कारक माना गया है। शुक्र प्रधान व्यक्तियों में काम-भावना का अतिरेक पाया जाता है। यदि जन्म पत्रिका में शुक्र नीचराशिस्थ हो, चन्द्र नीचराशिस्थ हो एवं शुक्र व चन्द्र पर क्रूर ग्रहों, विशेषकर मंगल का प्रभाव हो तो यह योग व्यक्ति को चारित्रिक रूप से पतित कर देता है। मंगल एक क्रूर व उत्तेजनात्मक ग्रह है।

जब मंगल का प्रभाव शुक्र पर पड़ता है तब व्यक्ति अपनी लैंगिक आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए किसी भी सीमा का उल्लंघन कर सकता है। शुक्र-मंगल युति, मंगल का शुक्र की राशि में स्थित होना, आदि योग भी व्यक्ति के चारित्रिक पतन का कारण बनते हैं, वहीं यदि इन ग्रहयोगों के साथ राहु-केतु का लग्न या लग्नेश पर प्रभाव हो तो व्यक्ति आपराधिक प्रवृत्ति का होकर अपनी वासनापूर्ति करता है।

इन योगों में जातक को विपरीत लिंगियों के कारण लांछन लगता है। अत: यदि जन्म पत्रिका में इन ग्रह योगों का सृजन हो तो व्यक्ति को तत्काल इन दुर्योगों की विधिवत शांति करवाकर अत्यंत संयमित होकर अपना जीवन-यापन करना चाहिए।

-ज्योतिर्विद पं. हेमन्त रिछारिया
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केंद्र


और भी पढ़ें :

राशिफल

क्या लाया है नए घर का सपना आपके लिए, जानें 12 तरह के स्वप्न ...

क्या लाया है नए घर का सपना आपके लिए, जानें 12 तरह के स्वप्न फल
सपनों की दुनिया भी काफी सूक्ष्म है। सपने देखने के क्रम में ऐसे स्थान या दृश्य दिखाई पड़ते ...

अटल बिहारी वाजपेयी : खास है उनके जीवन में अंक 4 की भूमिका

अटल बिहारी वाजपेयी : खास है उनके जीवन में अंक 4 की भूमिका
पूर्व प्रधानमंत्री अटलजी के जीवन में अंक 4 की भूमिका कैसी और कितनी है, यह रोचक और जानने ...

इस साल क्या है रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, ...

इस साल क्या है रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, क्या धनिष्ठा पंचक बनेगा रुकावट
रक्षाबंधन का त्योहार इस वर्ष 26 अगस्त को है। इस साल अच्छी बात यह है कि राखी के दिन भद्रा ...

रक्षाबंधन में नहीं है भद्रा का दोष, ऐसे सजाएं राखी की थाली ...

रक्षाबंधन में नहीं है भद्रा का दोष, ऐसे सजाएं राखी की थाली अपने भाई के लिए
हिन्दू पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त प्रातः 5 बजकर 59 मिनट से आरंभ होकर शाम 5 ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के अनुसार
चारों दिशाओं से सुख-संपत्ति और सम्मान पाना है तो जानें वास्तु के अनुसार कैसी हो भवन की ...

भोलेनाथ शंकर की सुंदर भावनात्मक स्तुति : जय शिवशंकर, जय ...

भोलेनाथ शंकर की सुंदर भावनात्मक स्तुति : जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे
जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे, जय कैलाशी, जय अविनाशी, सुखराशि, सुख-सार ...

20 अगस्त को श्रावण का अंतिम सोमवार, अपनी राशि अनुसार कुछ इस ...

20 अगस्त को श्रावण का अंतिम सोमवार, अपनी राशि अनुसार कुछ इस तरह करें शिव को प्रसन्न
मेष राशि के जातकों को श्रावण मास के अंतिम सोमवार पर शिवजी को आंकड़े का फूल चढ़ाना चाहिए। ...

बस सात दिन और बचे हैं सावन को खत्म होने में, कर लीजिए यह ...

बस सात दिन और बचे हैं सावन को खत्म होने में, कर लीजिए यह उपाय
26 अगस्त 2018 को रक्षाबंधन के पर्व के साथ ही सावन का पावन महीना समाप्त हो जाएगा। पूजन, ...

कब है रक्षा बंधन, क्या है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, कौन ...

कब है रक्षा बंधन, क्या है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, कौन सा मंत्र बोलें राखी बांधते हुए
रक्षा बंधन के दिन इस बार भद्रा नहीं लग रहा है। इसलिए बहन शाम 5 बजकर 12 मिनट तक राखी बांध ...

19 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...

19 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...
संतान पक्ष की चिंता रहेगी। चोट व दुर्घटना से बचें। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व ...