18 साल के युवाओं के लिए फ्री यूरोपा टिकट

पुनः संशोधित शनिवार, 5 मई 2018 (17:17 IST)
दूसरे समुदायों से नफरत करने के बजाए उनके पास जाकर उन्हें समझिए, इससे कई गलतफहमियां दूर होंगी। युवाओं को 15,000 मुफ्त देकर ऐसी ही गलतफहमियों को दूर करना चाहता है।
यूरोपीय संघ ने युवाओं के लिए डिस्कवर ईयू प्रोजेक्ट लॉन्च किया है। प्रोजेक्ट का मकसद यूरोपीय संघ के युवाओं के बीच आपसी और सांस्कृतिक मेल जोल बढ़ाना है। इसके तहत सदस्य देशों के 18 साल के करीब 30,000 युवाओं को 2018 की गर्मियों में 30 दिन तक मुफ्त रेल यात्रा का पास मिलेगा। पास का इस्तेमाल चार देशों में किया जा सकेगा, यानि चार देशों में उन्हें ट्रेन का कोई किराया नहीं देना होगा।

डिस्कवर ईयू नाम के प्रोजेक्ट को यूरोपीय संघ ने मार्च 2018 में स्वीकृति दी। इसका खर्च करीब 1.2 करोड़ यूरो आएगा। घूमने के दौरान युवाओं को अपने रहने और खाने पीने का खर्च खुद उठाना होगा। यूरोप में लंबी दूरी के ट्रेन टिकट के मुकाबले ये खर्चे काफी कम हैं।
डिस्कवर ईयू प्रोजेक्ट को यूरोप की सांस्कृतिक पहचान में किया गया निवेश बताया जा रहा है। प्रोजेक्ट का नारा है यूरोप "लोगों के आपसी जुड़ाव और साझा भावनाओं" पर टिका है। अलग अलग देशों में घूमने वाले युवाओं को विभिन्न संस्कृतियों और दूसरे इलाकों में रहने वाले युवाओं से बातचीत करने का अनुभव मिलेगा।

एक ऐसे वक्त में जब दुनिया के कुछ देशों में राष्ट्रवाद, पॉपुलिज्म और दक्षिणपंथी भावनाएं उभर रही हैं, तभी यूरोपीय संघ ने यह प्रोजेक्ट लॉन्च किया है। प्रोजेक्ट की वकालत करने वालों का कहना है कि ये "पॉपुलिज्म के मौजूदा विकास से लड़ सकता है।" बहुत ही कम उम्र में युवाओं को पता चलेगा कि एक संयुक्त यूरोप में रहने वाले उनके पड़ोसी कैसे रहते हैं।
टिकट जून 2018 में यूरोपीय संघ की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे। इसके लिए आवेदन भरना होगा और एक क्विज में हिस्सा लेना होगा। क्विज में यूरोपीय संघ के इतिहास और उसकी विरासत से जुड़े सवाल होंगे। चुने जाने वाले युवाओं को जुलाई से लेकर सितंबर तक यात्रा करने का विकल्प मिलेगा।

यूरोपीय नेताओं को उम्मीद है कि भविष्य में इस प्रोजेक्ट का और ज्यादा विस्तार होगा। यूरोपीय आयोग ने 2021 से 2027 के बीच इस प्रोजेक्ट के लिए 70 करोड़ यूरो के बजट का एलान किया है।
रेल से यूरोप की सैर करने के लिए 1959 से ही यूरेल या इंटर रेल टिकट है। यूरेल यूरोप से बाहर रहने वाले लोगों के लिए है, जो यूरोप के 28 देशों में इसकी मदद से घूम सकते हैं। इंटररेल यूरोप के अंदर रहने वाले लोगों के लिए हैं। अलग अलग कीमतों पर इसकी आवधिक टिकटों का इस्तेमाल छुट्टियों में घूमने के लिए किया जा सकता है।

ओएसजे/एमजे (एपी, एएफपी)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

मुंगेर के निसार हैं 'लावारिस शवों के मसीहा'

मुंगेर के निसार हैं 'लावारिस शवों के मसीहा'
जहां धर्म और मजहब के नाम पर हिंदू और मुसलमानों के बीच तनाव की खबरें सुर्खियों में आती ...

शवों के साथ एकांत का शौक रखने वाला यह तानाशाह

शवों के साथ एकांत का शौक रखने वाला यह तानाशाह
चार अगस्त, 1972, को बीबीसी के दिन के बुलेटिन में अचानक समाचार सुनाई दिया कि युगांडा के ...

तो क्या खुल गया स्टोनहेंज का राज?

तो क्या खुल गया स्टोनहेंज का राज?
शायद आपने फिल्मी गानों में इन रहस्यमयी पत्थरों को देखा हो। इंग्लैंड में प्राचीन पत्थरों ...

कैंसर ने इरफान खान को बदल डाला

कैंसर ने इरफान खान को बदल डाला
अपने एक्टिंग से बॉलीवुड और हॉलीवुड को हिलाने वाले इरफान खान ने कैंसर की खबर के बाद पहला ...

दिल्ली का जीबी रोड: जिस सड़क का अंत नहीं

दिल्ली का जीबी रोड: जिस सड़क का अंत नहीं
दिल्ली की एक सड़क है, जिसका नाम सुनते ही लोगों की भौंहें तन जाती हैं और वे दबी जुबान में ...

तीसरे टेस्ट में जसप्रीत बुमराह की वापसी से कप्तान विराट ...

तीसरे टेस्ट में जसप्रीत बुमराह की वापसी से कप्तान विराट कोहली बेहद रोमांचित
नाटिंघम। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा कि वे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के ...

टीम में बार-बार बदलाव की आलोचना करने वालों को कोहली का ...

टीम में बार-बार बदलाव की आलोचना करने वालों को कोहली का करारा जवाब
नाटिंघम। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा कि टीम में बार-बार बदलाव से उनके ...

अटलजी के निधन पर अमेरिका में भारतीय समुदाय शोकाकुल

अटलजी के निधन पर अमेरिका में भारतीय समुदाय शोकाकुल
न्यूयॉर्क। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर यहां भारतवंशी समुदाय के लोगों ...