टेस्ट डेब्यू से पहले बेचैन थे हनुमा विहारी, द्रविड़ ने बढ़ाया हौसला

Last Updated: सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (14:00 IST)
लंदन। इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में टेस्ट में पर्दापण करने वाले हनुमा विहारी ने अपनी पहली ही पारी में अर्द्धशतक लगाकर जबर्दस्त आगाज किया है। हनुमा विहारी ने इस अर्धशतकीय पारी के बाद खुलासा किया कि उनकी कामयाबी के पीछे राहुल द्रविड़ की सलाह का बहुत बड़ा रोल रहा। हनुमा ने खुलासा किया कि डेब्यू से पहले उन्होंने इंडिया अंडर 19 और ए टीम के कोच राहुल द्रविड़ को कॉल किया था।


टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण से पहले काफी बेचैन रहे हनुमा विहारी ने कहा कि राहुल द्रविड़ से फोन पर बात कर उन्हें राहत मिली। जिससे वह इंग्लैंड के खिलाफ अर्द्धशतक बनाकर भारत को संकट से निकाल सके। विहारी ने 56 रन बनाए और रवींद्र जडेजा (नाबाद 86) के साथ 77 रनों की साझेदारी की। टीम इंडिया ने पहली पारी में 292 रन बनाए।

हनुमा ने कहा कि उन्होंने कुछ मिनट मुझसे बात की, जिससे मेरी बेचैनी मिट गई। वह महान क्रिकेटर हैं और बल्लेबाजी में उनकी सलाह से मुझे काफी मदद मिली।
हनुमा ने आगे कहा कि द्रविड़ ने मुझे कुछ मिनटों तक बात की और उन्होंने मुझे धैर्य और संयम रखने की सलाह दी। द्रविड़ की सलाह ने मुझे शांत किया। द्रविड़ ने मुझे कहा कि मेरे पास तकनीक और संयम है और मुझे क्रीज पर जाकर इंजॉय करना चाहिए।

हनुमा ने अपने बेहतर खिलाड़ी बनने का श्रेय भी द्रविड़ को दिया। भारत ए के साथ अपने सफर को वह काफी अहम मानते हैं। विहारी ने कहा कि जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को खेलते हुए वह नर्वस थे।

उन्होंने कहा कि शुरुआत में मुझे दबाव महसूस हुआ, लेकिन एक बार जमने के बाद मैं नर्वस नहीं था। वे विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं और मिलकर 990 विकेट ले चुके हैं। मैं सकारात्मक सोच के साथ खेलना चाहता था।

हनुमा ने विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा कि दूसरे छोर पर विराट के होने से मेरा काम आसान हो गया. उनकी सलाह से मुझे काफी मदद मिली. मैं उन्हें इसका श्रेय देना चाहूंगा।


और भी पढ़ें :