इरफान पठान पर जेकेसीए में हस्तक्षेप का आरोप, तानाशाही से तंग आकर चयनकर्ता ने दिया इस्तीफा

पुनः संशोधित सोमवार, 10 सितम्बर 2018 (00:03 IST)
जम्मू। (जेकेसीए) के चयनकर्ता ने भारतीय क्रिकेटर पर तानाशाह जैसा रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जेकेसीए ने आगामी रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट के मद्देनजर पठान को खिलाड़ी और मेंटर के तौर पर टीम में शामिल किया है।


पूर्व रणजी खिलाड़ी ध्रुव महाजन इससे पहले चार बार रणजी ट्रॉफी में जम्मू-कश्मीर की कप्तानी कर चुके हैं और घरेलू क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद जेकेसीए के चयनकर्ता के रूप में काम कर रहे हैं। महाजन ने पठान पर विभिन्न आयु वर्ग के खिलाड़ियों की चयन प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया है।





महाजन ने कहा कि इरफान अनावश्यक रूप से चयन प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर रहे हैं। उनका इस तरह से हस्तक्षेप करना जेकेसीए के संविधान के खिलाफ है। महाजन ने अपने पद से इस्तीफा देने के बाद कहा कि जब चयन प्रक्रिया को इस तरह से एक व्यक्ति द्वारा प्रभावित किया जाता है सिर्फ इसलिए क्योंकि वह एक भारतीय क्रिकेटर है तो इस पद पर बने रहने का कोई अर्थ नहीं है।
महाजन ने कहा कि पठान खुद भी एक खिलाड़ी हैं और उन्हें नियमों की जानकारी होनी चाहिए, लेकिन दुर्भाग्यवश वह नियमों का पालन नहीं कर रहे थे इसलिए मैंने अपने पद से हटने का फैसला किया है। महाजन ने कहा कि पठान ने कई मौकों पर चयनकर्ताओं की ओर से लिए निर्णयों का विरोध करने के अलावा उन्हें नजरअंदाज़ किया है, जोकि अस्वीकार्य है।


और भी पढ़ें :