भारत ने बांग्लादेश को 8 विकेट से हराया, सीरीज 1-1 से बराबर, रोहित ने अपने 100वें मैच में जड़े 85 रन

पुनः संशोधित गुरुवार, 7 नवंबर 2019 (23:40 IST)
राजकोट। कप्तान रोहित शर्मा के तूफानी अर्द्धशतक और साथी सलामी बल्लेबाज के साथ उनकी शतकीय साझेदारी से भारत ने दूसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में गुरुवार को यहां को 8 विकेट से हराकर 3 मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर दी। टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का शतक पूरा करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बने रोहित शर्मा ने 85 रन बनाए।
बांग्लादेश के 154 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे भारत ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों का शतक पूरा करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बने रोहित की 43 गेंद में 85 रन की पारी और धवन (31) के साथ उनकी पहले विकेट की 118 रन की साझेदारी से 4.2 ओवर शेष रहते 2 विकेट पर 154 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की।
टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मैचों का शतक पूरा करने वाले दुनिया के सिर्फ दूसरे क्रिकेटर रोहित ने अपनी पारी में 6 छक्के और इतने ही चौके मारे।

पाकिस्तान के शोएब मलिक एकमात्र क्रिकेटर हैं जिन्होंने 100 से अधिक टी-20 खेले हैं। उनके नाम पर 111 मैच दर्ज हैं। भारत ने इससे पहले बांग्लादेश को 6 विकेट पर 153 रन के स्कोर पर रोका।
बांग्लादेश की टीम एक समय 11वें ओवर में 1 विकेट पर 83 रन बनाकर बेहद मजबूत स्थिति में थी, लेकिन चहल (28 रन पर 2 विकेट), दीपक चाहर (25 रन पर 1 विकेट) और वाशिंगटन सुंदर (25 रन पर 1 विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने बड़े स्कोर तक नहीं पहुंच सकी।

बांग्लादेश की ओर से मोहम्मद नईम (36), सौम्य सरकार (30), कप्तान महमूदुल्लाह (30) और लिटन दास (29) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे।

बांग्लादेश की टीम अंतिम 8 ओवर में 56 रन ही जोड़ सकी। सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच रविवार को नागपुर में खेला जाएगा।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को रोहित और धवन ने तूफानी शुरुआत दिलाई। धवन ने मुस्तफिजुर रहमान के पहले ही ओवर में 2 चौकों के साथ शुरुआत की।
रोहित ने शफीउल इस्लाम पर चौके से खाता खोलने के बाद मुस्तफिजुर के ओवर में दो चौके और एक छक्का मारा। रोहित ने शफीउल पर भी छक्का जड़ा जबकि धवन ने अमीनुल इस्लाम (29 रन पर दो विकेट) पर 2 चौके मारे।

भारत ने पावरप्ले में बिना विकेट खोए 63 रन जोड़े। रोहित ने अफीफ हुसैन पर छक्के के साथ सिर्फ 23 गेंद में अर्द्धशतक पूरा किया। उन्होंने मुसादेक हुसैन का स्वागत लगातार तीन छक्कों के साथ करते हुए ओवर में 21 रन जुटाए।
धवन हालांकि इसके बाद अमीनुल की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में बोल्ड हो गए। उन्होंने 27 गेंद का सामना करते हुए 4 चौके मारे।

रोहित भी इसके बाद अमीनुल की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में डीप मिडविकेट पर स्थानापन्न खिलाड़ी मोहम्मद मिथुन को कैच दे बैठे।
इस समय भारत को जीत के लिए 46 गेंद में 29 रन की जरूरत थी और श्रेयस अय्यर (13 गेंद में नाबाद 24) तथा लोकेश राहुल (11 गेंद में नाबाद 8) ने उसे आसानी से लक्ष्य तक पहुंचा दिया।

इससे पहले रोहित ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद नईम और लिटन ने पहले विकेट के लिए 7.2 ओवर में 60 रन जोड़कर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई।

नईम और लिटन को मैदान पर भारत की गलतियों का फायदा भी मिला। लिटन ने दीपक चाहर के पहले ओवर में ही चौका लगाया जबकि नईम ने खलील अहमद (44 रन पर 1 विकेट) का स्वागत लगातार तीन चौकों के साथ किया। नईम ने इस तेज गेंदबाज के दूसरे ओवर में भी दो चौके मारे।
रोहित ने छठे ओवर में गेंद लेग स्पिनर चहल को थमाई और उन्होंने तीसरी ही गेंद पर लिटन को स्टंप करा दिया। यहां पर भी हालांकि विकेटकीपर ऋषभ पंत की अपरिपक्वता दिखी जब मैदानी अंपायरों ने तीसरे अंपायर का सहारा लिया और रीप्ले में दिखा कि पंत ने विकेटों के आगे से ही गेंद को पकड़ लिया था। नियम के अनुसार ग्लव्स का कोई हिस्सा विकेट से आगे नहीं होना चाहिए और ऐसे में लिटन को नॉटआउट घोषित किया गया।
लिटन ने इस जीवनदान का फायदा उठाकर चहल की अगली दो गेंद पर चौके मारे। चहल के अगले ओवर में हालांकि पंत ने उन्हें रनआउट कर दिया। उन्होंने 21 गेंद की पारी में चार चौके मारे।

नईम भी इसके बाद अधिक देर नहीं टिक सके और ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन की गेंद पर डीप मिडविकेट पर श्रेयस अय्यर को कैच दे बैठे। उन्होंने 31 गेंद का सामना करते हुए 5 चौके मारे।

सौम्य सरकार (30) ने कृणाल पंड्या पर पारी का एकमात्र छक्का जड़ा लेकिन दिल्ली में पहले टी-20 में टीम की जीत के हीरो मुशफिकुर रहीम 4 रन बनाने के बाद चहल की गेंद पर पंड्या को कैच दे बैठे।
सरकार ने चहल पर 2 रन के साथ 13वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया, लेकिन इसी ओवर में पंत के हाथों स्टंप हो गए।

इस बार भी स्टंप के फैसले को तीसरे अंपायर के पास भेजा गया और मामूली अंतर से भारतीय विकेटकीपर इस बार सफल रहा जिससे बांग्लादेश का स्कोर 4 विकेट पर 103 रन हो गया।

महमूदुल्लाह ने इसके बाद मोर्चा संभाला। उन्होंने चहल पर चौके जड़ने के बाद खलील पर भी दो चौके मारे। चाहर ने हालांकि थर्ड मैन पर उन्हें शिवम दुबे के हाथों कैच कराके बांग्लादेश की बड़े स्कोर तक पहुंचने की उम्मीदों को तोड़ दिया।(Photo courtesy: Twitter)


और भी पढ़ें :