उम्मीद करता हूं बल्लेबाजों के लिए आतंक बने रहेंगे एंडरसन: रूट

लंदन| पुनः संशोधित बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (11:46 IST)
लंदन। टेस्ट इतिहास का सबसे सफल तेज गेंदबाज बनने पर की सराहना करते हुए इंग्लैंड के कप्तान ने उम्मीद जताई कि वह देश के गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ बने रहेंगे और बल्लेबाजों को आतंकित करते रहेंगे।

एंडरसन ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैकग्रा को पीछे छोड़कर टेस्ट इतिहास के सबसे सफल तेज गेंदबाज बने। उनके नाम पर अब 564 विकेट दर्ज हैं। टेस्ट में उनसे अधिक विकेट अब सिर्फ मुथैया मुरलीधरन (800), शेन वार्न (708) और अनिल कुंबले (619) ने चटकाए हैं। रूट ने कहा कि जिम्मी ने जो हासिल किया और अब भी वह जो हासिल करने में सक्षम है, वह सचमुच में शानदार है। वह काफी प्रतिबद्ध लगता है- और जब वह इस तरह के मूड में होते हैं तो आप उनसे जितनी अधिक संभव हो उतनी गेंदबाजी करा सकते हो।
उन्होंने कहा कि उनके लिए मैकग्रा की लीग में शामिल होना और अब दो बड़े स्पिनरों का पीछा करना बेहतरीन है। मुझे लगता है कि सबसे रोमांचक चीज यह है कि वह अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी कर रहे हैं और मैं देख सकता हूं कि वह अब भी इसे काफी आगे ले जा सकते हैं।

रूट ने कहा कि उम्मीद करता हूं कि भविष्य में भी कई श्रृंखलाएं होंगी जहां वह आक्रमण की अगुआई करेंगे और बल्लेबाजों को आतंकित करना जारी रखेंगे। एंडरसन ने मंगलवार को भारत के खिलाफ पांचवें टेस्ट में अंतिम विकेट चटकाया जिससे इंग्लैंड ने टेस्ट में 118 रन की जीत के साथ पांच मैचों की श्रृंखला 4-1 से अपने नाम की।
रूट ने कहा कि दुनिया की नंबर एक टीम भारत के खिलाफ श्रृंखला जीतना दर्शाता है कि इंग्लैंड आगे बढ़ रहा है और उन्होंने उम्मीद जताई कि टेस्ट टीम श्रीलंका और विंडीज के सर्दियों में होने वाले दौरे के दौरान एकदिवसीय टीम के नक्शेकदम पर चलते हुए अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने में सफल रहेगी।

लोकेश राहुल और ऋषभ पंत ने शतक जड़े और छठे विकेट के लिए 204 रन की साझेदारी करके ड्रॉ और भारत की उलटफेर भरी जीत की उम्मीद जताई। राहुल हालांकि आदिल राशिद की बेहतरीन लेग स्पिन पर बोल्ड हो गए जिसके बाद भारतीय पारी को सिमटने में अधिक देर नहीं लगी।
रूट ने कहा कि वह बेहतरीन गेंद थी। राशिद में ऐसा करने की क्षमता है, यही कारण है कि वह टीम में है। इंग्लैंड के कप्तान ने कहा कि वे दोनों (राहुल और पंत) बीच के सत्र में जिस तरह खेले उसके लिए उन्हें श्रेय जाता है, उन्होंने हमारे लिए मुश्किलें पैदा की। जब हम चाय के लिए लौटे तो तीनों नतीजे संभव थे- जो दर्शाता है कि टेस्ट क्रिकेट काफी अच्छी स्थिति में है।

एंडरसन के 564 विकेट के अलावा एलिस्टेयर कुक ने 33वें टेस्ट शतक के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत किया और रूट ने कहा कि यह श्रृंखला का शानदार अंतर रहा। रूट ने कहा कि एलिस्टेयर का इस अंदाज में जाना और जिम्मी का मैच खत्म करना इन दोनों खिलाड़ियों के लिए शानदार है जो दोनों काफी करीबी मित्र हैं। उन्हें एक दूसरे के साथ खेलने की कमी खलेगी। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :