देश के लिए जीतने जैसा ही अहम है देश से सम्मान पाना : टिम पेन

पुनः संशोधित बुधवार, 5 दिसंबर 2018 (16:37 IST)
एडीलेड। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के लिए भारत को हराने जितना ही महत्वपूर्ण देशवासियों का सम्मान पाना है और उन्होंने बुधवार को कहा कि उनके लिए मैच जीतना और दिल जीतना एक दूसरे से अलग चुनौतियां नहीं है।

भारत के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रही चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला से पहले पेन ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने उन पहलुओं को पहचान लिया है जिनमें सुधार की जरूरत है।

उन्होंने कहा, हम मैच भी जीतना चाहते हैं और दिल भी। हम जीतने के लिए ही खेलते हैं और हमने समझ लिया है कि कुछ पहलुओं पर काम करने की जरूरत है। देशवासियों से सम्मान पाना भी उतना ही जरूरी है जितना कि जीतना।

उन्होंने कहा, मैने अभी रिकी पोंटिंग से बात की और हमने पिछले कुछ साल में ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तानों का जिक्र किया। उनकी जमात में खुद को शामिल करना काफी चुनौतीपूर्ण है।

पेन ने कहा, मैं इसे सरल रखना चाहता हूं। ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करना गर्व की बात है लेकिन मैं इससे बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं होना चाहता। ऑस्ट्रेलियाई टीम में चार तेज गेंदबाजों को जगह दी गई है। इस बारे में पेन ने कहा, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस की वापसी अच्छी बात है।

ऑस्ट्रेलिया में खेलने का तरीका यूएई से एकदम अलग होगा। हम खेल में बहुत बदलाव नहीं करेंगे। रणनीति थोड़ी अलग होगी। उपकप्तान और हरफनमौला मिशेल मार्श खराब फार्म की वजह से टीम में नहीं है और उन्हें शेफील्ड शील्ड खेलने के लिए छोड़ दिया जाएंगा।

पेन ने कहा, हम सभी को पता है कि वह कितना प्रतिभाशाली है। वह श्रृंखला में वापसी करेगा और हम उसे शेफील्ड शील्ड भेज रहे हैं ताकि उसका अभ्यास जारी रहे। (भाषा)


और भी पढ़ें :